Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Mar 2017 · 1 min read

सृष्टि

[29/03, 10:49 AM] A S: मना रही सृष्टि अपना जन्म दिन,
सृष्टिकर्ता की चेतनशक्ति को नमन।
ज्ञात और अज्ञात सब वही है,
एक से अनेक का ही स्फुरण है।
युगों युगों से कर रहे वंदना,
चैत्र शुक्ल प्रतिपदा की आराधना।
पर जुडते गये संयोग इस दिन,
युगाब्द हो चाहे विक्रम संवत।
प्रकृति भी करती श्रृगाँर,
पहनती बहुरंगी पुष्पहार।
अपने प्रियतम ब्रह्म को देने,
सजाती मौसमी विविधता हार।
फिर हम रहे क्यो पिछे,
चले प्रकृति के साथ साथ।
वरन क्या वजूद है हमारा,
श्रृष्टा की सूक्ष्तम कृति उपहार।
नव वर्ष,शक्ति पूजा का विधान,
शक्ति संचय से होता जीवन धन्य।
[29/03, 10:51 AM] A S: राजेश कौरव “सुमित्र”(उ.श्रे.शि.)

Language: Hindi
1 Like · 297 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Rajesh Kumar Kaurav
View all
You may also like:
माँ दहलीज के पार🙏
माँ दहलीज के पार🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
अपराह्न का अंशुमान
अपराह्न का अंशुमान
Satish Srijan
"संकल्प"
Dr. Kishan tandon kranti
तन के लोभी सब यहाँ, मन का मिला न मीत ।
तन के लोभी सब यहाँ, मन का मिला न मीत ।
sushil sarna
दिल कहे..!
दिल कहे..!
Niharika Verma
रणक्षेत्र बना अब, युवा उबाल
रणक्षेत्र बना अब, युवा उबाल
प्रेमदास वसु सुरेखा
DR अरूण कुमार शास्त्री
DR अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अक्सर सच्ची महोब्बत,
अक्सर सच्ची महोब्बत,
शेखर सिंह
*मैंने तो मधु-विश्वासों की, कथा निरंतर बॉंची है (गीत)*
*मैंने तो मधु-विश्वासों की, कथा निरंतर बॉंची है (गीत)*
Ravi Prakash
समझौता
समझौता
Sangeeta Beniwal
"वेश्या का धर्म"
Ekta chitrangini
इंडिया दिल में बैठ चुका है दूर नहीं कर पाओगे।
इंडिया दिल में बैठ चुका है दूर नहीं कर पाओगे।
सत्य कुमार प्रेमी
* प्यार के शब्द *
* प्यार के शब्द *
surenderpal vaidya
Be happy with the little that you have, there are people wit
Be happy with the little that you have, there are people wit
पूर्वार्थ
भारत
भारत
Bodhisatva kastooriya
😊गज़ब के लोग😊
😊गज़ब के लोग😊
*प्रणय प्रभात*
2763. *पूर्णिका*
2763. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हम सनातन वाले हैं
हम सनातन वाले हैं
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
सद्विचार
सद्विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
मोहब्बत।
मोहब्बत।
Taj Mohammad
याद आए दिन बचपन के
याद आए दिन बचपन के
Manu Vashistha
नव वर्ष का आगाज़
नव वर्ष का आगाज़
Vandna Thakur
नहीं बदलते
नहीं बदलते
Sanjay ' शून्य'
** हद हो गई  तेरे इंकार की **
** हद हो गई तेरे इंकार की **
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
“मां बनी मम्मी”
“मां बनी मम्मी”
पंकज कुमार कर्ण
आए अवध में राम
आए अवध में राम
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
यादें
यादें
Tarkeshwari 'sudhi'
सबकी जात कुजात
सबकी जात कुजात
मानक लाल मनु
दिनकर शांत हो
दिनकर शांत हो
भरत कुमार सोलंकी
भावात्मक
भावात्मक
Surya Barman
Loading...