Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jan 2021 · 1 min read

सुन्दर सलोनी

|| सुन्दर सलोनी ||

तुम सुंदर है सुशील है पर सलोनी हुई तुमसे एक भूल है।
वह मैं बता नहीं सकता, क्योंकि वह तुम्हारे लिए त्रिशूल है।।

तुम चांद जैसी खूबसूरत है गंगा जैसी पवित्र।
पर तुम्हारे शरीर से एक बू आती है जैसे मानो की लगा इत्र।।

तुम्हारे चेहरे की ए मुस्कान सब बयां करती है।
कि तुम दिल से नहीं मजबूरी में हंसती है।।

मैं जानता हूं कि तुम मेच्योर नहीं अनमेच्योर हो।
पर यह भी नहीं कह सकता कि तुम सिक्योर हो।।

शायद यह गलती तुम्हारी नहीं तुम्हारी परिवार की है।
जिसे विश्वास की आड़ में तुम बेकार की है।।

बुरा मत मानना मैं एक कवि हूं।
किसी का बिगाडना नहीं चाहता छवि हूं।।

क्योंकि मैं झूठ बोल नहीं सकता, नहीं सच छुपा सकता हूं।
यही तो एक माध्यम है कहने की, जिससे मैं बता सकता हूं।।

कवि – जय लगन कुमार हैप्पी ⛳

Language: Hindi
535 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
स्पर्श करें निजजन्म की मांटी
स्पर्श करें निजजन्म की मांटी
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
मुक्तक
मुक्तक
Rashmi Sanjay
होली के कुण्डलिया
होली के कुण्डलिया
Vijay kumar Pandey
बेशक प्यार तुमसे था, है ,और शायद  हमेशा रहे।
बेशक प्यार तुमसे था, है ,और शायद हमेशा रहे।
Vishal babu (vishu)
' नये कदम विश्वास के '
' नये कदम विश्वास के '
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
जख्मो से भी हमारा रिश्ता इस तरह पुराना था
कवि दीपक बवेजा
तुम सत्य हो
तुम सत्य हो
Dr.Pratibha Prakash
मर्द की कामयाबी के पीछे माँ के अलावा कोई दूसरी औरत नहीं होती
मर्द की कामयाबी के पीछे माँ के अलावा कोई दूसरी औरत नहीं होती
Sandeep Kumar
*पाऍं कैसे ब्रह्म को, आओ करें विचार (कुंडलिया)*
*पाऍं कैसे ब्रह्म को, आओ करें विचार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
आदिशक्ति वन्दन
आदिशक्ति वन्दन
Mohan Pandey
कुछ बूँद हिचकियाँ मिला दे
कुछ बूँद हिचकियाँ मिला दे
शेखर सिंह
सत्य और अमृत
सत्य और अमृत
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
जिज्ञासा
जिज्ञासा
Neeraj Agarwal
दीपक माटी-धातु का,
दीपक माटी-धातु का,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Irritable Bowel Syndrome
Irritable Bowel Syndrome
Tushar Jagawat
किसी ने सही ही कहा है कि आप जितनी आगे वाले कि इज्ज़त करोंगे व
किसी ने सही ही कहा है कि आप जितनी आगे वाले कि इज्ज़त करोंगे व
Shankar N aanjna
ईर्ष्या
ईर्ष्या
Sûrëkhâ Rãthí
क्या विरासत में
क्या विरासत में
Dr fauzia Naseem shad
Wait ( Intezaar)a precious moment of life:
Wait ( Intezaar)a precious moment of life:
पूर्वार्थ
मेरे जीवन में सबसे
मेरे जीवन में सबसे
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
3030.*पूर्णिका*
3030.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
■क्षणिका■
■क्षणिका■
*Author प्रणय प्रभात*
आओ ...
आओ ...
Dr Manju Saini
महाराष्ट्र की राजनीति
महाराष्ट्र की राजनीति
Anand Kumar
समस्त देशवाशियो को बाबा गुरु घासीदास जी की जन्म जयंती की हार
समस्त देशवाशियो को बाबा गुरु घासीदास जी की जन्म जयंती की हार
Ranjeet kumar patre
रूपगर्विता
रूपगर्विता
Dr. Kishan tandon kranti
दोहे-*
दोहे-*
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
हों जो तुम्हे पसंद वही बात कहेंगे।
हों जो तुम्हे पसंद वही बात कहेंगे।
Rj Anand Prajapati
जय जय जय जय बुद्ध महान ।
जय जय जय जय बुद्ध महान ।
Buddha Prakash
कविता -नैराश्य और मैं
कविता -नैराश्य और मैं
Dr Tabassum Jahan
Loading...