Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Mar 2023 · 1 min read

💐प्रेम कौतुक-413💐

सिसकना बुदबुदाना और धड़कने तेज हुईं उनकी,
हे फरिश्तो देखते रहो,साँस कम तो नहीं हुईं उनकी,
ये सब बहुत इत्मीनान से चल रहा है दुनियाँ वालों,
ग़ौर करो मेरी परछाईं क़ल्ब से हटी तो नहीं उनकी।

©®अभिषेक: पाराशरः “आनन्द”

Language: Hindi
Tag: Hindi Quotes, Quote Writer
18 Views
You may also like:
यूं मरनें मारनें वाले।
यूं मरनें मारनें वाले।
Taj Mohammad
मोबाइल के भक्त
मोबाइल के भक्त
Satish Srijan
" मेरी प्यारी नींद"
Dr Meenu Poonia
"महत्वाकांक्षा"
Dr. Kishan tandon kranti
ਕਿਉਂ ਰੋਵਾਂ
ਕਿਉਂ ਰੋਵਾਂ
Surinder blackpen
ना जाने कौन से मैं खाने की शराब थी
ना जाने कौन से मैं खाने की शराब थी
कवि दीपक बवेजा
मैथिली हाइकु कविता (Maithili Haiku Kavita)
मैथिली हाइकु कविता (Maithili Haiku Kavita)
Binit Thakur (विनीत ठाकुर)
I hide my depression,
I hide my depression,
Vandana maurya
गुरु की पूछो ना जात!
गुरु की पूछो ना जात!
जय लगन कुमार हैप्पी
मैंने तो ख़ामोश रहने
मैंने तो ख़ामोश रहने
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
■ नई महाभारत..
■ नई महाभारत..
*Author प्रणय प्रभात*
यू ही
यू ही
shabina. Naaz
शिकायत है उन्हें
शिकायत है उन्हें
मानक लाल"मनु"
*मुर्गा कहता (बाल कविता)*
*मुर्गा कहता (बाल कविता)*
Ravi Prakash
बेटी तो ऐसी ही होती है
बेटी तो ऐसी ही होती है
gurudeenverma198
कोशिश पर लिखे अशआर
कोशिश पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
जितना आवश्यक है बस उतना ही
जितना आवश्यक है बस उतना ही
पंकज कुमार शर्मा 'प्रखर'
रात है यह काली
रात है यह काली
जगदीश लववंशी
अहंकार और आत्मगौरव
अहंकार और आत्मगौरव
अमित कुमार
धार्मिक कार्यक्रमों के नाम पर जबरदस्ती वसूली क्यों ?
धार्मिक कार्यक्रमों के नाम पर जबरदस्ती वसूली क्यों ?
Deepak Kohli
Desires are not made to be forgotten,
Desires are not made to be forgotten,
Sakshi Tripathi
नारी जीवन की धारा
नारी जीवन की धारा
Buddha Prakash
राधे राधे happy Holi
राधे राधे happy Holi
साहित्य गौरव
क्यों बीते कल की स्याही, आज के पन्नों पर छीटें उड़ाती है।
क्यों बीते कल की स्याही, आज के पन्नों पर छीटें...
Manisha Manjari
! ! बेटी की विदाई ! !
! ! बेटी की विदाई ! !
Surya Barman
🏠कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह लो।
🏠कुछ दिन की है बात ,सभी जन घर में रह...
Pt. Brajesh Kumar Nayak
💐अज्ञात के प्रति-127💐
💐अज्ञात के प्रति-127💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
सांसें थम सी गई है, जब से तु म हो ।
सांसें थम सी गई है, जब से तु म हो...
Chaurasia Kundan
महाशिवरात्रि
महाशिवरात्रि
Seema gupta,Alwar
हिजाब विरोधी आंदोलन
हिजाब विरोधी आंदोलन
Shekhar Chandra Mitra
Loading...