Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jan 2024 · 1 min read

सितारा कोई

اب تمہارا نہ کوی اور نہ ہمارا کوئ
زندگی کس طرح ممکن ہو گزارا کوئ

اشک غم چشم چراغاں ہیں محبت کے جناب
روشنی ان کے علاوہ نہ سہارا کوئ

حسن آذاد ہوا عشق بھی روبوٹ ہوا
گن نہیں ملنا نہیں ملنا ستارا کوئ

کوی محبوب لۓ اور کوی تصویر لۓ
اب خیالوں میں نہیں ملتا کنوارا کوئ

یار محشر ہی ملے دار تمنائی ہو
فلسفہ کہتا نہیں ملنا دوبارہ کوئ

درج اک نام ہوا شاہ مقابل تیرے
آئنے جیسا ہے خود سوز گوارہ کوئ

अब तुम्हारा न कोई और न हमारा कोई
ज़िन्दगी किस तरहा मुमकिन हो गुज़ारा कोई

अश़्क़ो ग़म चश़्मो चराग़ां हैं मोहब्बत के जनाब
रोशनी इनके अलावा,न सहारा कोई

हुस्न आज़ाद हुआ इश़्क़ भी रोबोट हुआ
——————————
गुन नहीं मिलना नहीं मिलना सितारा कोई
——————————-

कोई महबूब लिए और कोई तस्वीर लिए
अब ख़्यालों में नहीं मिलता कंवारा कोई

यार महशर ही मिले दार तमन्नाई हो
फ़लसफ़ा कहता, नहीं मिलना दोबारा कोई

दर्ज इक नाम हुआ शाह मुक़ाबिल तेरे
आईने जैसा है ख़ुद सोज़ गवारा कोई

शहाब उद्दीन शाह क़न्नौजी

Language: Hindi
83 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शे'र
शे'र
Anis Shah
माँ
माँ
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
14, मायका
14, मायका
Dr Shweta sood
"पता"
Dr. Kishan tandon kranti
इस टूटे हुए दिल को जोड़ने की   कोशिश मत करना
इस टूटे हुए दिल को जोड़ने की कोशिश मत करना
Anand.sharma
2834. *पूर्णिका*
2834. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
चांद सितारे टांके हमने देश की तस्वीर में।
चांद सितारे टांके हमने देश की तस्वीर में।
सत्य कुमार प्रेमी
ज्ञान -दीपक
ज्ञान -दीपक
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ढलती उम्र का जिक्र करते हैं
ढलती उम्र का जिक्र करते हैं
Harminder Kaur
जिन्दगी के हर सफे को ...
जिन्दगी के हर सफे को ...
Bodhisatva kastooriya
जो मिला ही नहीं
जो मिला ही नहीं
Dr. Rajeev Jain
This generation was full of gorgeous smiles and sorrowful ey
This generation was full of gorgeous smiles and sorrowful ey
पूर्वार्थ
इश्क़—ए—काशी
इश्क़—ए—काशी
Astuti Kumari
बस जिंदगी है गुज़र रही है
बस जिंदगी है गुज़र रही है
Manoj Mahato
शारदीय नवरात्र
शारदीय नवरात्र
Neeraj Agarwal
अलविदा
अलविदा
Dr fauzia Naseem shad
कुछ लोग बहुत पास थे,अच्छे नहीं लगे,,
कुछ लोग बहुत पास थे,अच्छे नहीं लगे,,
Shweta Soni
#मुक्तक-
#मुक्तक-
*प्रणय प्रभात*
मनुस्मृति का, राज रहा,
मनुस्मृति का, राज रहा,
SPK Sachin Lodhi
शेखर सिंह ✍️
शेखर सिंह ✍️
शेखर सिंह
सावन म वैशाख समा गे
सावन म वैशाख समा गे
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
पूजा
पूजा
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
कितने इनके दामन दागी, कहते खुद को साफ।
कितने इनके दामन दागी, कहते खुद को साफ।
डॉ.सीमा अग्रवाल
बढ़े चलो तुम हिम्मत करके, मत देना तुम पथ को छोड़ l
बढ़े चलो तुम हिम्मत करके, मत देना तुम पथ को छोड़ l
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
मनुष्यता कोमा में
मनुष्यता कोमा में
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हर एक सब का हिसाब कोंन रक्खे...
हर एक सब का हिसाब कोंन रक्खे...
कवि दीपक बवेजा
जहां आपका सही और सटीक मूल्यांकन न हो वहां  पर आपको उपस्थित ह
जहां आपका सही और सटीक मूल्यांकन न हो वहां पर आपको उपस्थित ह
Rj Anand Prajapati
मेरे वतन मेरे वतन
मेरे वतन मेरे वतन
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
“देवभूमि क दिव्य दर्शन” मैथिली ( यात्रा -संस्मरण )
“देवभूमि क दिव्य दर्शन” मैथिली ( यात्रा -संस्मरण )
DrLakshman Jha Parimal
कभी कभी छोटी सी बात  हालात मुश्किल लगती है.....
कभी कभी छोटी सी बात हालात मुश्किल लगती है.....
Shashi kala vyas
Loading...