Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

*सावन*

सावन की है छटा निराली
छाये सभी और हरियाली
बागों में अब झूला झूलें
सब के मुख पर आयी लाली
*धर्मेन्द्र अरोड़ा*

206 Views
You may also like:
नीड़ फिर सजाना है
Saraswati Bajpai
घर आंगन
शेख़ जाफ़र खान
"लाइलाज दर्द"
DESH RAJ
सरकारी निजीकरण।
Taj Mohammad
तरुण वह जो भाल पर लिख दे विजय।
Pt. Brajesh Kumar Nayak
ज़रा सी देर में सूरज निकलने वाला है
Dr. Sunita Singh
बुढ़ापे में अभी भी मजे लेता हूं
Ram Krishan Rastogi
आखिर क्यों... ऐसा होता हैं 
Dr. Alpa H. Amin
हवा-बतास
आकाश महेशपुरी
आइसक्रीम लुभाए
Buddha Prakash
तेरे दिल में कोई साजिश तो नहीं
Krishan Singh
शायद मैं गलत हूँ...
मनोज कर्ण
होना सभी का हिसाब है।
Taj Mohammad
वेदों की जननी... नमन तुझे,
मनोज कर्ण
पापा ने मां बनकर।
Taj Mohammad
भोपाल गैस काण्ड
Shriyansh Gupta
【10】 ** खिलौने बच्चों का संसार **
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
शायरी ने बर्बाद कर दिया |
Dheerendra Panchal
प्रेमानुभूति भाग-1 'प्रेम वियोगी ना जीवे, जीवे तो बौरा होई।’
पंकज 'प्रखर'
हमारा दिल।
Taj Mohammad
घर की इज्ज़त।
Taj Mohammad
अति का अंत
AMRESH KUMAR VERMA
✍️मैं एक मजदुर हूँ✍️
"अशांत" शेखर
कुरान की आयत।
Taj Mohammad
अधुरा सपना
Anamika Singh
श्रीराम
सुरेखा कादियान 'सृजना'
" हसीन जुल्फें "
DESH RAJ
✍️अज़ीब इत्तेफ़ाक है✍️
"अशांत" शेखर
पिता है मेरे रगो के अंदर।
Taj Mohammad
✍️✍️तो सूर्य✍️✍️
"अशांत" शेखर
Loading...