Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

साथ भी दूंगा नहीं यार मैं नफरत के लिए।

ग़ज़ल

2122….1122……1122….22/112
साथ भी दूंगा नहीं यार मैं नफरत के लिए।
जान हाज़िर है सदा मेरी मुहब्बत के लिए।

एक शोला हूॅं अगर बात शराफत के लिए।
मेरा साया भी नहीं साथ अदावत के लिए।

जिसने मां बाप को रोटी भी नहीं दी यारो,
राह तकते हैं सदा वो ही वसीयत के लिए।

अग्नि पथ है ये गरल कैसे युवा पी जाएं,
इतनी सस्ती भी नहीं जान शहादत के लिए।

मेरे नगमों में छुपी है जो अनल की ज्वाला,
शायरी मेरी मुकर्रर है बगावत के लिए।

मेरे मौला हो करम मुझे तो बस इतना ही,
सिर पे छत कपड़ा निवाला हो जरूरत के लिए।

कोई भी आए बला सर पे नहीं लो प्रेमी।
हमने सब छोड़ दिए मसले अदालत के लिए।

……..✍️ प्रेमी

1 Like · 44 Views
You may also like:
*#महापुरुषों_के_पत्र* (संस्मरण)
Ravi Prakash
माँ तुम्हें सलाम हैं।
Anamika Singh
कुछ तुम बदलो, कुछ हम बदलें।
निकेश कुमार ठाकुर
💐💐 सूत्रधार 💐💐
DR ARUN KUMAR SHASTRI
✍️वो मील का पत्थर....!
'अशांत' शेखर
✍️रात साजिशों में है✍️
'अशांत' शेखर
*संस्मरण*
Ravi Prakash
ज़िक्र तेरा
Dr fauzia Naseem shad
वक्त दर्पण दिखा दे तो अच्छा ही है।
Renuka Chauhan
दुखो की नैया
AMRESH KUMAR VERMA
स्मृति चिन्ह
Shyam Sundar Subramanian
✍️कसम खुदा की..!✍️
'अशांत' शेखर
रोता आसमां
Alok Saxena
"ईद"
Lohit Tamta
हाइकु:-(राम-रावण युद्ध)
Prabhudayal Raniwal
✍️क्रांतिसूर्य✍️
'अशांत' शेखर
कहो अब और क्या चाहें
VINOD KUMAR CHAUHAN
ये दिल फरेबी गंदा है।
Taj Mohammad
आकाश
AMRESH KUMAR VERMA
जावेद कक्षा छः का छात्र कला के बल पर कई...
Shankar J aanjna
न और ना प्रयोग और अंतर
Subhash Singhai
ईद मनाते हैं।
Taj Mohammad
गीत- अमृत महोत्सव आजादी का...
डॉ.सीमा अग्रवाल
सरस्वती कविता
Ankit Halke jha Official's
गुमनाम मुहब्बत का आशिक
श्री रमण 'श्रीपद्'
कितना मुझे रुलाओगे ! बस करो
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
बदरा कोहनाइल हवे
सन्तोष कुमार विश्वकर्मा 'सूर्य'
इंद्रधनुष
Arjun Chauhan
“मोह मोह”…….”ॐॐ”….
Piyush Goel
भूल जाओ इस चमन में...
मनोज कर्ण
Loading...