Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jul 2023 · 1 min read

साझ

गुजर गए यूही जीवन के सत्तर वर्ष!
विषाद के पल थे कम ,अगणित हर्ष!!
हो रही साझ,पर भोर अभी बाकी है,
जीवन प्रतिपल तो एक नई झाकी है!!
कभी कही, ठहर नही जाना है तुमको
पुत्र विवाह की आगे इक जो साकी है!!
पुत्र,-वधू आगमन की अतुलित तैय्यारी
पित्र-ऋण से उऋण होने की झाकी है!!
तप -तप कर जो तुमने किया था निवेष
उसके बिम्ब -प्रतिबिम्ब ,अभी बाकी है!!
सतसाहित्य भरा पडा जो डायरियो मे
उसका अभीष्ठ सम्मान भी तो बाकी है!!
‘बोधिसत्व’ बोध ऋचाओ मे है वर्णित,
अंहकार नही,अंत कपालक्रिया जाकी है!!

Language: Hindi
389 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Bodhisatva kastooriya
View all
You may also like:
💐प्रेम कौतुक-423💐
💐प्रेम कौतुक-423💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
बाबू जी
बाबू जी
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
आखिर वो तो जीते हैं जीवन, फिर क्यों नहीं खुश हम जीवन से
आखिर वो तो जीते हैं जीवन, फिर क्यों नहीं खुश हम जीवन से
gurudeenverma198
అందమైన తెలుగు పుస్తకానికి ఆంగ్లము అనే చెదలు పట్టాయి.
అందమైన తెలుగు పుస్తకానికి ఆంగ్లము అనే చెదలు పట్టాయి.
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
लानत है
लानत है
Shekhar Chandra Mitra
"वाह नारी तेरी जात"
Dr. Kishan tandon kranti
यादों की सौगात
यादों की सौगात
RAKESH RAKESH
प्रेम का दरबार
प्रेम का दरबार
Dr.Priya Soni Khare
राम राज्य
राम राज्य
Shriyansh Gupta
तेरी मिट्टी के लिए अपने कुएँ से पानी बहाया है
तेरी मिट्टी के लिए अपने कुएँ से पानी बहाया है
'अशांत' शेखर
एक तूही दयावान
एक तूही दयावान
Basant Bhagawan Roy
कितना कोलाहल
कितना कोलाहल
Bodhisatva kastooriya
#लघु_कविता
#लघु_कविता
*Author प्रणय प्रभात*
मुझ में
मुझ में
हिमांशु Kulshrestha
दीमक जैसे खा रही,
दीमक जैसे खा रही,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
पौधरोपण
पौधरोपण
Dr. Pradeep Kumar Sharma
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
🥀 *गुरु चरणों की धूल*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Bundeli Doha pratiyogita-149th -kujane
Bundeli Doha pratiyogita-149th -kujane
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
ये जो लोग दावे करते हैं न
ये जो लोग दावे करते हैं न
ruby kumari
नूतन वर्ष
नूतन वर्ष
Madhavi Srivastava
हाइकु (#मैथिली_भाषा)
हाइकु (#मैथिली_भाषा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
दिल
दिल
Neeraj Agarwal
मां नही भूलती
मां नही भूलती
Anjana banda
भारत भूमि में पग पग घूमे ।
भारत भूमि में पग पग घूमे ।
Buddha Prakash
ताश के महल अब हम बनाते नहीं
ताश के महल अब हम बनाते नहीं
Er. Sanjay Shrivastava
*****खुद का परिचय *****
*****खुद का परिचय *****
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
हर मुश्किल से घिरा हुआ था, ना तुमसे कोई दूरी थी
हर मुश्किल से घिरा हुआ था, ना तुमसे कोई दूरी थी
Er.Navaneet R Shandily
आहट
आहट
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
🌷 *परम आदरणीय शलपनाथ यादव
🌷 *परम आदरणीय शलपनाथ यादव "प्रेम " जी के अवतरण दिवस पर विशेष
Dr.Khedu Bharti
*त्रिशूल (बाल कविता)*
*त्रिशूल (बाल कविता)*
Ravi Prakash
Loading...