Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Aug 2022 · 1 min read

साजिशें ही साजिशें…

साजिशें ही साजिशें…

साजिशें ही साजिशें।
हर तरफ हैं साजिशें।

चैन- सुकून लील रहीं,
रंजिशें औ साजिशें।

लग रहीं हर काम में,
तिकड़म औ सिफारिशें।

पूरी हों तो कैसे,
आसमां – सी ख्वाहिशें।

बढ़ा-चढ़ा चमक-दमक,
लगा रहे नुमाइशें।

कौन क्या गुल खिलाए,
नव नस्ल की पैदाइशें।

बंद पन्नों में पड़ीं,
अनसुनी सब नालिशें।

न जाने बरसें कहाँ,
खुदा तिरी नवाज़िशें।

सभी सुखी रहें यहाँ,
दिल की ये गुजारिशें।

बरसें सबके आँगन
रहमतों की बारिशें।

© डॉ.सीमा अग्रवाल
मुरादाबाद ( उ.प्र.)

6 Likes · 425 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from डॉ.सीमा अग्रवाल
View all
You may also like:
అందమైన తెలుగు పుస్తకానికి ఆంగ్లము అనే చెదలు పట్టాయి.
అందమైన తెలుగు పుస్తకానికి ఆంగ్లము అనే చెదలు పట్టాయి.
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
"मीरा के प्रेम में विरह वेदना ऐसी थी"
Ekta chitrangini
💐प्रेम कौतुक-502💐
💐प्रेम कौतुक-502💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
होली
होली
Dr Archana Gupta
नारी शक्ति वंदन
नारी शक्ति वंदन
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
आ जा उज्ज्वल जीवन-प्रभात।
आ जा उज्ज्वल जीवन-प्रभात।
Anil Mishra Prahari
बाबा साहब की अंतरात्मा
बाबा साहब की अंतरात्मा
जय लगन कुमार हैप्पी
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
🌷 सावन तभी सुहावन लागे 🌷
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
Tu Mainu pyaar de
Tu Mainu pyaar de
Swami Ganganiya
अपनी जिंदगी मे कुछ इस कदर मदहोश है हम,
अपनी जिंदगी मे कुछ इस कदर मदहोश है हम,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
// अगर //
// अगर //
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
भगतसिंह की जवानी
भगतसिंह की जवानी
Shekhar Chandra Mitra
विवेकवान मशीन
विवेकवान मशीन
Sandeep Pande
मुसलसल ठोकरो से मेरा रास्ता नहीं बदला
मुसलसल ठोकरो से मेरा रास्ता नहीं बदला
कवि दीपक बवेजा
ज़माने की निगाहों से कैसे तुझपे एतबार करु।
ज़माने की निगाहों से कैसे तुझपे एतबार करु।
Phool gufran
#लघुकविता-
#लघुकविता-
*Author प्रणय प्रभात*
एक चिडियाँ पिंजरे में 
एक चिडियाँ पिंजरे में 
Punam Pande
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
सूरज की किरणों
सूरज की किरणों
Sidhartha Mishra
*आवारा कुत्ते हुए, शेरों-से खूंखार (कुंडलिया)*
*आवारा कुत्ते हुए, शेरों-से खूंखार (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
वो तुम्हारी पसंद को अपना मानता है और
वो तुम्हारी पसंद को अपना मानता है और
Rekha khichi
शिक्षा (Education) (#नेपाली_भाषा)
शिक्षा (Education) (#नेपाली_भाषा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
विचार और भाव-2
विचार और भाव-2
कवि रमेशराज
84कोसीय नैमिष परिक्रमा
84कोसीय नैमिष परिक्रमा
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
ये उम्र के निशाँ नहीं दर्द की लकीरें हैं
ये उम्र के निशाँ नहीं दर्द की लकीरें हैं
Atul "Krishn"
जिंदगी भी रेत का सच रहतीं हैं।
जिंदगी भी रेत का सच रहतीं हैं।
Neeraj Agarwal
"बेल"
Dr. Kishan tandon kranti
संग दीप के .......
संग दीप के .......
sushil sarna
ग़ज़ल/नज़्म - फितरत-ए-इंसाँ...नदियों को खाकर वो फूला नहीं समाता है
ग़ज़ल/नज़्म - फितरत-ए-इंसाँ...नदियों को खाकर वो फूला नहीं समाता है
अनिल कुमार
गुरु पूर्णिमा आ वर्तमान विद्यालय निरीक्षण आदेश।
गुरु पूर्णिमा आ वर्तमान विद्यालय निरीक्षण आदेश।
Acharya Rama Nand Mandal
Loading...