Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jan 2024 · 1 min read

साइस और संस्कृति

पहले चंद्रयान-3 प्रग्यान ने चंद्रमा पर तिरंगा फहराया!
आज आदित्य एल1 को 15 लाख किमी पर ठहराया!!
दुनिया करती अभिनंदन इसरो के वैञनिक विश्वास को,
भारत माता गौरान्वित हुई,जब उसने ये समाचार पाया!!
सनातत संस्कृति की’वसुधैव कुटुम्बकम’ का प्रथम चरण,
सूर्य-चंद्र की गतिविधियो की निगरानी का अवसर आया!!
स्वतंत्रता अमृतकाल की उपलब्थियो मे एक और जुड गई,
राम लला आगमन से पहले ही, उनका आशीष है पाया!!
धन्य-धन्य हुए सब भारतवासी ,पाकर सियाराम आशीष,
साइस और संस्कृति का संगम देख,सम्पूर्ण जग भरमाया!!

,सर्वाधिकार सुरछित मौलिक रचना
बोधिसत्व कस्तूरिया एडवोकेट,कवि पत्रकार
202,नीरव निकुज फेस-2,सिकंदरा,आगरा-282007
मो:9412443093

Language: Hindi
76 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Bodhisatva kastooriya
View all
You may also like:
खून के आंसू रोये
खून के आंसू रोये
Surinder blackpen
सूरज - चंदा
सूरज - चंदा
Prakash Chandra
दिन ढले तो ढले
दिन ढले तो ढले
Dr.Pratibha Prakash
चिंतित अथवा निराश होने से संसार में कोई भी आपत्ति आज तक दूर
चिंतित अथवा निराश होने से संसार में कोई भी आपत्ति आज तक दूर
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
फिल्मी नशा संग नशे की फिल्म
फिल्मी नशा संग नशे की फिल्म
Sandeep Pande
तुम चाहो तो मुझ से मेरी जिंदगी ले लो
तुम चाहो तो मुझ से मेरी जिंदगी ले लो
shabina. Naaz
बरबादी   का  जश्न  मनाऊं
बरबादी का जश्न मनाऊं
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
लिख / MUSAFIR BAITHA
लिख / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
बसंत पंचमी
बसंत पंचमी
Neeraj Agarwal
तूफान सी लहरें मेरे अंदर है बहुत
तूफान सी लहरें मेरे अंदर है बहुत
कवि दीपक बवेजा
चिड़िया चली गगन आंकने
चिड़िया चली गगन आंकने
AMRESH KUMAR VERMA
छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस
छत्तीसगढ़ स्थापना दिवस
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
आता सबको याद है, अपना सुखद अतीत।
आता सबको याद है, अपना सुखद अतीत।
महेश चन्द्र त्रिपाठी
दिल है या दिल्ली?
दिल है या दिल्ली?
Shekhar Chandra Mitra
💐प्रेम कौतुक-472💐
💐प्रेम कौतुक-472💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
3011.*पूर्णिका*
3011.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
गम ए हकीकी का कारण न पूछीय,
गम ए हकीकी का कारण न पूछीय,
Deepak Baweja
बेटियों ने
बेटियों ने
ruby kumari
आज का चिंतन
आज का चिंतन
निशांत 'शीलराज'
ये बेकरारी, बेखुदी
ये बेकरारी, बेखुदी
हिमांशु Kulshrestha
बंद आंखें कर ये तेरा देखना।
बंद आंखें कर ये तेरा देखना।
सत्य कुमार प्रेमी
तुम्हारा दूर जाना भी
तुम्हारा दूर जाना भी
Dr fauzia Naseem shad
हिम्मत और महब्बत एक दूसरे की ताक़त है
हिम्मत और महब्बत एक दूसरे की ताक़त है
SADEEM NAAZMOIN
*जब तक दंश गुलामी के ,कैसे कह दूँ आजादी है 【गीत 】*
*जब तक दंश गुलामी के ,कैसे कह दूँ आजादी है 【गीत 】*
Ravi Prakash
हाँ मैं नारी हूँ
हाँ मैं नारी हूँ
Surya Barman
नौकरी
नौकरी
Buddha Prakash
पैमाना सत्य का होता है यारों
पैमाना सत्य का होता है यारों
प्रेमदास वसु सुरेखा
तू मुझे क्या समझेगा
तू मुझे क्या समझेगा
Arti Bhadauria
मुझे भी जीने दो (भ्रूण हत्या की कविता)
मुझे भी जीने दो (भ्रूण हत्या की कविता)
Dr. Kishan Karigar
Speak with your work not with your words
Speak with your work not with your words
Nupur Pathak
Loading...