Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
9 Jun 2020 · 1 min read

सफाई कामगारों के हक और अधिकारों की दास्तां को बयां करती हुई कविता ‘आखिर कब तक’

आखिर कब तक
करते रहोगे अमानवीय काम
ढोते रहोगे मलमूत्र
मरते रहोगे सीवरों में
निकालते रहोगे गंदी नालियाँ
ढोते रहोगे लाशें

आखिर कब तक
सहोगे ये जुल्म
कब तक रहोगे
खामोश ?

सुनो सफाईकर्मियों !
अब बजा दो
बिगुल
इन गंदे कामों के
खिलाफ,
हिला दो चूल
उन ‘दिव्य सुख’
बताने वालों की,
तोड़ दो
सारे बंधन
जो-
बाधक बनते है,
तुम्हारी तरक्की के
रास्तों में।

1 Like · 508 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
सहारा...
सहारा...
Naushaba Suriya
2409.पूर्णिका
2409.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
पुलवामा हमले पर शहीदों को नमन चार पंक्तियां
पुलवामा हमले पर शहीदों को नमन चार पंक्तियां
कवि दीपक बवेजा
*पियक्कड़* (हास्य कुंडलिया)
*पियक्कड़* (हास्य कुंडलिया)
Ravi Prakash
*ऐलान – ए – इश्क *
*ऐलान – ए – इश्क *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कोरे कागज पर...
कोरे कागज पर...
डॉ.सीमा अग्रवाल
रे ज़िन्दगी
रे ज़िन्दगी
Jitendra Chhonkar
स्वार्थी नेता
स्वार्थी नेता
पंकज कुमार कर्ण
प्रेम के नाम पर मर मिटने वालों की बातें सुनकर हंसी आता है, स
प्रेम के नाम पर मर मिटने वालों की बातें सुनकर हंसी आता है, स
पूर्वार्थ
बीरबल जैसा तेज तर्रार चालाक और समझदार लोग आज भी होंगे इस दुन
बीरबल जैसा तेज तर्रार चालाक और समझदार लोग आज भी होंगे इस दुन
Dr. Man Mohan Krishna
ढंका हुआ झूठ
ढंका हुआ झूठ
*Author प्रणय प्रभात*
चचा बैठे ट्रेन में [ व्यंग्य ]
चचा बैठे ट्रेन में [ व्यंग्य ]
कवि रमेशराज
स्त्री
स्त्री
Ajay Mishra
यह कौन सी तहजीब है, है कौन सी अदा
यह कौन सी तहजीब है, है कौन सी अदा
VINOD CHAUHAN
बाद मुद्दत के हम मिल रहे हैं
बाद मुद्दत के हम मिल रहे हैं
Dr Archana Gupta
दो शब्द सही
दो शब्द सही
Dr fauzia Naseem shad
तुम हासिल ही हो जाओ
तुम हासिल ही हो जाओ
हिमांशु Kulshrestha
तू इतनी खूबसूरत है...
तू इतनी खूबसूरत है...
आकाश महेशपुरी
🙏😊🙏
🙏😊🙏
Neelam Sharma
वक्त
वक्त
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
जागी जवानी
जागी जवानी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
युवा संवाद
युवा संवाद
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
किसान का दर्द
किसान का दर्द
Tarun Singh Pawar
मुलाक़ातें ज़रूरी हैं
मुलाक़ातें ज़रूरी हैं
Shivkumar Bilagrami
व्यापार नहीं निवेश करें
व्यापार नहीं निवेश करें
Sanjay ' शून्य'
सफलता का बीज
सफलता का बीज
Dr. Kishan tandon kranti
चाय की चुस्की लेते ही कुछ देर तक ऊर्जा शक्ति दे जाती है फिर
चाय की चुस्की लेते ही कुछ देर तक ऊर्जा शक्ति दे जाती है फिर
Shashi kala vyas
उड़ान
उड़ान
Saraswati Bajpai
चारु कात देख दुनियाँ के सोचि रहल छी ठाड़ भेल ,की छल की भऽ गेल
चारु कात देख दुनियाँ के सोचि रहल छी ठाड़ भेल ,की छल की भऽ गेल
DrLakshman Jha Parimal
RKASHA BANDHAN
RKASHA BANDHAN
डी. के. निवातिया
Loading...