Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 Jul 2016 · 1 min read

सफर

सफर में साथ चलने वाले
सभी तो नहीं होते हमसफ़र
सभी तो होते हैं
नितान्त,अजनबी
जिन से नहीं होता
कुछ भी परिचय
फिर भी
सफर में
ये बन जाते हैं
हम ख़्याल,हमसफ़र
और साथ बैठकर
बिता देते हैं
बहुत सा समय
साथ-साथ
उस वक़्त नहीं रहता खुछ भी ख़्याल
कि ये तो है मुसाफ़िर
आज इस सफ़र के
कल उस सफ़र के
फिर यूँ हीं पूरी उम्र निकल जायेगी
तब न होंगे ये…
न होंगी इनकी मीठी बातें…
सुनील पुष्करणा

Language: Hindi
Tag: कविता
1 Like · 190 Views
You may also like:
मैल
Gaurav Sharma
दुश्मनी ही तो तुमसे मैं
gurudeenverma198
यादों में तेरे रहना ख्वाबों में खो जाना
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
*"यूँ ही कुछ भी नही बदलता"*
Shashi kala vyas
रंग हरा सावन का
श्री रमण 'श्रीपद्'
देश के हित मयकशी करना जरूरी है।
सत्य कुमार प्रेमी
💐💐धर्मो रक्षति रक्षित:💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
जुदाई
Shekhar Chandra Mitra
*दशहरे का मेला (बाल कविता)*
Ravi Prakash
प्रेम
Saraswati Bajpai
प्यार क्या बला की चीज है!
Anamika Singh
Music and Poetry
Shivkumar Bilagrami
माँ स्कंदमाता
Vandana Namdev
मैंने मना कर दिया
विनोद सिल्ला
हो बेखबर अंजान तो अंजान ही रहो।
Taj Mohammad
दिन बड़ा बनाने में
डी. के. निवातिया
नाथू राम जरा बतलाओ
Satish Srijan
दिल लगाऊं कहां
Kavita Chouhan
बाल विवाह
Utkarsh Dubey “Kokil”
बंकिम चन्द्र प्रणाम
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
అభివృద్ధి చెందిన లోకం
विजय कुमार 'विजय'
✍️सत्ता का नशा✍️
'अशांत' शेखर
महक कहां बचती है
Kaur Surinder
तमन्ना अनूप
Dr.sima
नन्ही गिलहरी
Buddha Prakash
तेरा दीदार
Dr fauzia Naseem shad
इमोजी है तो सही यार...!
*Author प्रणय प्रभात*
★उसकी यादें ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
दवा दे गया
सुशील कुमार सिंह "प्रभात"
अपने
Shivam Pandey
Loading...