Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Feb 2024 · 1 min read

*सच्चे गोंड और शुभचिंतक लोग…*

सच्चे गोंड और शुभचिंतक लोग…
हमारे जीवन में…
सितारों की तरह होते है…!!
वो चमकते तो सदैव ही रहते है,
परंतु…दिखायी तभी देते है,
*जब अंधकार छा जाता है *
🙏जय बुढ़ादेव 🙏

80 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from नेताम आर सी
View all
You may also like:
पिता
पिता
Harendra Kumar
Khuch rishte kbhi bhulaya nhi karte ,
Khuch rishte kbhi bhulaya nhi karte ,
Sakshi Tripathi
★गैर★
★गैर★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
माटी तेल कपास की...
माटी तेल कपास की...
डॉ.सीमा अग्रवाल
होती नहीं अराधना, सोए सोए यार।
होती नहीं अराधना, सोए सोए यार।
Manoj Mahato
परीक्षा
परीक्षा
Er. Sanjay Shrivastava
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को समर्पित
पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को समर्पित
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
फिर क्यूँ मुझे?
फिर क्यूँ मुझे?
Pratibha Pandey
"बचपन"
Tanveer Chouhan
पापा गये कहाँ तुम ?
पापा गये कहाँ तुम ?
Surya Barman
मेरे नन्हें-नन्हें पग है,
मेरे नन्हें-नन्हें पग है,
Buddha Prakash
15, दुनिया
15, दुनिया
Dr Shweta sood
करते प्रियजन जब विदा ,भर-भर आता नीर (कुंडलिया)*
करते प्रियजन जब विदा ,भर-भर आता नीर (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
एक ऐसा दोस्त
एक ऐसा दोस्त
Vandna Thakur
“मेरे जीवन साथी”
“मेरे जीवन साथी”
DrLakshman Jha Parimal
ग़ज़ल/नज़्म - मैं बस काश! काश! करते-करते रह गया
ग़ज़ल/नज़्म - मैं बस काश! काश! करते-करते रह गया
अनिल कुमार
बहुत देखें हैं..
बहुत देखें हैं..
Srishty Bansal
ये भावनाओं का भंवर है डुबो देंगी
ये भावनाओं का भंवर है डुबो देंगी
ruby kumari
माँ दे - दे वरदान ।
माँ दे - दे वरदान ।
Anil Mishra Prahari
☄️ चयन प्रकिर्या ☄️
☄️ चयन प्रकिर्या ☄️
Dr Manju Saini
लौह पुरुष - दीपक नीलपदम्
लौह पुरुष - दीपक नीलपदम्
नील पदम् Deepak Kumar Srivastava (दीपक )(Neel Padam)
" बीकानेरी रसगुल्ला "
Dr Meenu Poonia
3301.⚘ *पूर्णिका* ⚘
3301.⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
योगी?
योगी?
Sanjay ' शून्य'
भतीजी (लाड़ो)
भतीजी (लाड़ो)
Kanchan Alok Malu
#चलते_चलते
#चलते_चलते
*Author प्रणय प्रभात*
क्या हुआ गर तू है अकेला इस जहां में
क्या हुआ गर तू है अकेला इस जहां में
gurudeenverma198
शब्द
शब्द
ओंकार मिश्र
आप खास बनो में आम आदमी ही सही
आप खास बनो में आम आदमी ही सही
मानक लाल मनु
"अमीर"
Dr. Kishan tandon kranti
Loading...