Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Feb 2023 · 1 min read

शुरुवात जरूरी है…!!

शुरुवात जरूरी है…!!

मन में है जो, वो बात जरूरी है
छा रहा अँधेरा घोर,
अब हर चिराग जरूरी है.
बदल रही है दुनिया सारी, बदल रहा प्रकृति भी
तेज नही धीरे ही सही,
पर बदलाव जरूरी है..
झूठी शान और परंपरा का,
बहिस्कार जरूरी है..
कोई डरा रहा ,कोई सहमाँ है,
कोई मूक,कोई वाचाल यहाँ
ध्वस्त करो यह रूढ़िवाद,
अब पुनरुत्थान जरूरी है..
मंजिल मिले या हार
ये बाद में तय होगा,
ठहरे रहे बहुत,
अब प्रस्थान जरूरी है..
जो होगा सो होगा अंजाम,
मगर आगाज जरूरी है..!
कुछ भी नहीं असंभव
बस शुरुवात जरूरी है…

237 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
"साजिश"
Dr. Kishan tandon kranti
3545.💐 *पूर्णिका* 💐
3545.💐 *पूर्णिका* 💐
Dr.Khedu Bharti
माँ का प्यार पाने प्रभु धरा पर आते है ?
माँ का प्यार पाने प्रभु धरा पर आते है ?
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
समुद्रर से गेहरी लहरे मन में उटी हैं साहब
समुद्रर से गेहरी लहरे मन में उटी हैं साहब
Sampada
जुबां बोल भी नहीं पाती है।
जुबां बोल भी नहीं पाती है।
नेताम आर सी
🌷ज़िंदगी के रंग🌷
🌷ज़िंदगी के रंग🌷
पंकज कुमार कर्ण
चांद चेहरा मुझे क़ुबूल नहीं - संदीप ठाकुर
चांद चेहरा मुझे क़ुबूल नहीं - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
पिता
पिता
Kanchan Khanna
जग कल्याणी
जग कल्याणी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
इश्क़-ए-फन में फनकार बनना हर किसी के बस की बात नहीं होती,
इश्क़-ए-फन में फनकार बनना हर किसी के बस की बात नहीं होती,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
जब कोई आदमी कमजोर पड़ जाता है
जब कोई आदमी कमजोर पड़ जाता है
Paras Nath Jha
I Have No Desire To Be Found At Any Cost
I Have No Desire To Be Found At Any Cost
Manisha Manjari
जिंदगी के कुछ चैप्टर ऐसे होते हैं,
जिंदगी के कुछ चैप्टर ऐसे होते हैं,
Vishal babu (vishu)
हिन्दी ही दोस्तों
हिन्दी ही दोस्तों
SHAMA PARVEEN
24, *ईक्सवी- सदी*
24, *ईक्सवी- सदी*
Dr Shweta sood
*वोट हमें बनवाना है।*
*वोट हमें बनवाना है।*
Dushyant Kumar
तुम अभी आना नहीं।
तुम अभी आना नहीं।
Taj Mohammad
यक्ष प्रश्न
यक्ष प्रश्न
Manu Vashistha
Even if you stand
Even if you stand
Dhriti Mishra
धीरे धीरे बदल रहा
धीरे धीरे बदल रहा
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
आज तू नहीं मेरे साथ
आज तू नहीं मेरे साथ
हिमांशु Kulshrestha
जंग तो दिमाग से जीती जा सकती है......
जंग तो दिमाग से जीती जा सकती है......
shabina. Naaz
*यहॉं संसार के सब दृश्य, पल-प्रतिपल बदलते हैं ( हिंदी गजल/गी
*यहॉं संसार के सब दृश्य, पल-प्रतिपल बदलते हैं ( हिंदी गजल/गी
Ravi Prakash
शीर्षक – फूलों के सतरंगी आंचल तले,
शीर्षक – फूलों के सतरंगी आंचल तले,
Sonam Puneet Dubey
*A date with my crush*
*A date with my crush*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
विजयादशमी
विजयादशमी
Mukesh Kumar Sonkar
अन्तर्राष्टीय मज़दूर दिवस
अन्तर्राष्टीय मज़दूर दिवस
सत्य कुमार प्रेमी
स्नेह का बंधन
स्नेह का बंधन
Dr.Priya Soni Khare
वाचाल सरपत
वाचाल सरपत
आनन्द मिश्र
मेरी मोहब्बत का चाँद
मेरी मोहब्बत का चाँद
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...