Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Jun 2019 · 1 min read

शब्दों को गुनगुनाने दें

शब्द गुनगुनाते
और रोते भी हैं,
इन्हें सिसकते भी देखा गया है।
गुनगुनाते हैं यह,
देवालयों की पवित्र सीढ़ियों पर ।
मंद-मंद मुस्कुराते हैं,
मस्जिदों के मुंडेर पर।
चहकते हैं,
गुरुद्वारे की पंगतो में।
और हाँ,
चर्च की गलियारों में
मोमबत्तियों की लौ पर,
इठलाते भी हैं,
यह बंजारे, बहुरूपिए शब्द।
गांव की पगडंडियाँ पकड़
विचार क्रांति भी करते हैं
देशज बन यह शब्द।
क्रांति और परिवर्तन की आश लिए
धीरे-धीरे महानगरों की चकाचौंध में
अथक दौड़ते भी हैं
यही शब्द।
और महानगरों की चकाचौंध,
इन्हें लीलने लगती है,
और धीरे-धीरे
मरने भी लगते हैं शब्द।
इन शब्दों को मरने न दें
यह आपके सगे हैं
इन्हें जीवंत बनाएं
अपने नव प्रयोग से
हाँ,
इन्हें गुनगुनाने दें
अपनी चौखट पर।

Language: Hindi
Tag: कविता
5 Likes · 3 Comments · 569 Views

Books from डा. सूर्यनारायण पाण्डेय

You may also like:
असली हीरो
असली हीरो
Soni Gupta
प्रेरणा
प्रेरणा
Shiv kumar Barman
बेपरवाह बचपन है।
बेपरवाह बचपन है।
Taj Mohammad
वो खिड़की जहां से देखा तूने एक बार
वो खिड़की जहां से देखा तूने एक बार
ठाकुर प्रतापसिंह "राणाजी"
इमोजी है तो सही यार...!
इमोजी है तो सही यार...!
*Author प्रणय प्रभात*
बादलों ने ज्यों लिया है
बादलों ने ज्यों लिया है
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
चांद से गुज़ारिश
चांद से गुज़ारिश
Shekhar Chandra Mitra
🌹Prodigy Love-21🌹
🌹Prodigy Love-21🌹
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आ जाते जो एक बार
आ जाते जो एक बार
Kavita Chouhan
जानो आयी है होली
जानो आयी है होली
Satish Srijan
जो वक़्त के सवाल पर
जो वक़्त के सवाल पर
Dr fauzia Naseem shad
विधाता
विधाता
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
जीवन
जीवन
Dr. Akhilesh Baghel "Akhil"
बेटी तो ऐसी ही होती है
बेटी तो ऐसी ही होती है
gurudeenverma198
कई शामें शामिल होकर लूटी हैं मेरी दुनियां /लवकुश यादव
कई शामें शामिल होकर लूटी हैं मेरी दुनियां /लवकुश यादव...
लवकुश यादव "अज़ल"
परखने पर मिलेगी खामियां
परखने पर मिलेगी खामियां
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
शब्द सारे ही लौट आए हैं
शब्द सारे ही लौट आए हैं
Ranjana Verma
नशा
नशा
shabina. Naaz
चलो हमसफर यादों के शहर में
चलो हमसफर यादों के शहर में
गनेश रॉय " रावण "
मैं किसान हूँ
मैं किसान हूँ
Dr.S.P. Gautam
"शिवाजी गुरु समर्थ रामदास स्वामी"✨
Pravesh Shinde
बुरा समय था
बुरा समय था
Swami Ganganiya
Wo mitti ki aashaye,
Wo mitti ki aashaye,
Sakshi Tripathi
मौसम तो बस बहाना हुआ है
मौसम तो बस बहाना हुआ है
Surinder blackpen
*व्यंग्य*
*व्यंग्य*
Ravi Prakash
शेर
शेर
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
प्यार की बातें कर मेरे प्यारे
प्यार की बातें कर मेरे प्यारे
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
✍️आदमी ने बनाये है फ़ासले…
✍️आदमी ने बनाये है फ़ासले…
'अशांत' शेखर
आसमान से ऊपर और जमीं के नीचे
आसमान से ऊपर और जमीं के नीचे
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
सफलता की दहलीज पर
सफलता की दहलीज पर
कवि दीपक बवेजा
Loading...