Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
31 Mar 2024 · 1 min read

“शब्दों की सार्थकता”

“शब्दों की सार्थकता”
शब्दों की सार्थकता तभी सम्भव होती है, जब वह कर्म में परिणित होकर साकार रूप लेता है।

1 Like · 1 Comment · 48 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
नारी पुरुष
नारी पुरुष
Neeraj Agarwal
सत्य की खोज अधूरी है
सत्य की खोज अधूरी है
VINOD CHAUHAN
बड़ी मछली सड़ी मछली
बड़ी मछली सड़ी मछली
Dr MusafiR BaithA
■ आज का अनूठा शेर।
■ आज का अनूठा शेर।
*प्रणय प्रभात*
इंसान को,
इंसान को,
नेताम आर सी
फर्क नही पड़ता है
फर्क नही पड़ता है
ruby kumari
शब्दों की रखवाली है
शब्दों की रखवाली है
Suryakant Dwivedi
Kavita
Kavita
shahab uddin shah kannauji
पापा गये कहाँ तुम ?
पापा गये कहाँ तुम ?
Surya Barman
शेखर सिंह
शेखर सिंह
शेखर सिंह
दोहा
दोहा
sushil sarna
अन्धी दौड़
अन्धी दौड़
Shivkumar Bilagrami
सोचना नहीं कि तुमको भूल गया मैं
सोचना नहीं कि तुमको भूल गया मैं
gurudeenverma198
वफ़ा की परछाईं मेरे दिल में सदा रहेंगी,
वफ़ा की परछाईं मेरे दिल में सदा रहेंगी,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*मर्यादा*
*मर्यादा*
Harminder Kaur
" ढले न यह मुस्कान "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
बिटिया  घर  की  ससुराल  चली, मन  में सब संशय पाल रहे।
बिटिया घर की ससुराल चली, मन में सब संशय पाल रहे।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
बस गया भूतों का डेरा
बस गया भूतों का डेरा
Buddha Prakash
सत्य केवल उन लोगो के लिए कड़वा होता है
सत्य केवल उन लोगो के लिए कड़वा होता है
Ranjeet kumar patre
मदर्स डे
मदर्स डे
Satish Srijan
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ६)
सुनो पहाड़ की.....!!! (भाग - ६)
Kanchan Khanna
अगर आप हमारी मोहब्बत की कीमत लगाने जाएंगे,
अगर आप हमारी मोहब्बत की कीमत लगाने जाएंगे,
Kanchan Alok Malu
देश से दौलत व शुहरत देश से हर शान है।
देश से दौलत व शुहरत देश से हर शान है।
सत्य कुमार प्रेमी
न्याय होता है
न्याय होता है
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
जमाना गुजर गया उनसे दूर होकर,
जमाना गुजर गया उनसे दूर होकर,
संजय कुमार संजू
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
इंसान कहीं का भी नहीं रहता, गर दिल बंजर हो जाए।
Monika Verma
23/134.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/134.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
टन टन
टन टन
SHAMA PARVEEN
"जल"
Dr. Kishan tandon kranti
*पाए हर युग में गए, गैलीलियो महान (कुंडलिया)*
*पाए हर युग में गए, गैलीलियो महान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...