Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Apr 2024 · 1 min read

* शक्ति स्वरूपा *

** गीतिका **
~~
शक्ति स्वरूपा हर बाला है, दुर्गा की अवतार।
कर में लिए त्रिशूल सामने, देवी ज्यों साकार।

सघन केश हैं शीश सुसज्जित, नेत्र तीसरा भाल।
कानों में कुण्डल मनभावन, गले स्वर्ण का हार।

सबको सहज करे आकर्षित, अधरों की मुस्कान।
बाल रूप मां का अति पावन, निश्छल है आधार।

हर बेटी का दिव्य रूप यह, मन को लेता मोह।
ऐसी कन्याओं से होते, सुखी सभी परिवार।

अखिल विश्व को नवरात्रि का, है यह शुभ संदेश।
सभी संजोकर रखें अपनी, संस्कृति के संस्कार।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
-सुरेन्द्रपाल वैद्य, १०/०४/२०२४

1 Like · 1 Comment · 48 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from surenderpal vaidya
View all
You may also like:
*संवेदनाओं का अन्तर्घट*
*संवेदनाओं का अन्तर्घट*
Manishi Sinha
जीवन का कोई सार न हो
जीवन का कोई सार न हो
Shweta Soni
मनुष्य को
मनुष्य को
ओंकार मिश्र
Neet aspirant suicide in Kota.....
Neet aspirant suicide in Kota.....
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
*Nabi* के नवासे की सहादत पर
*Nabi* के नवासे की सहादत पर
Shakil Alam
मुश्किलों से क्या
मुश्किलों से क्या
Dr fauzia Naseem shad
बस्ते...!
बस्ते...!
Neelam Sharma
*हिंदी मेरे देश की जुबान है*
*हिंदी मेरे देश की जुबान है*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
खुशनसीबी
खुशनसीबी
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कब तक अंधेरा रहेगा
कब तक अंधेरा रहेगा
Vaishaligoel
दिव्य दृष्टि बाधित
दिव्य दृष्टि बाधित
Neeraj Agarwal
Destiny's epic style.
Destiny's epic style.
Manisha Manjari
*नहीं हाथ में भाग्य मनुज के, किंतु कर्म-अधिकार है (गीत)*
*नहीं हाथ में भाग्य मनुज के, किंतु कर्म-अधिकार है (गीत)*
Ravi Prakash
सावन मास निराला
सावन मास निराला
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
इक बार वही फिर बारिश हो
इक बार वही फिर बारिश हो
Mrs PUSHPA SHARMA {पुष्पा शर्मा अपराजिता}
मुक्तक... छंद मनमोहन
मुक्तक... छंद मनमोहन
डॉ.सीमा अग्रवाल
ना होगी खता ऐसी फिर
ना होगी खता ऐसी फिर
gurudeenverma198
विश्व हिन्दी दिवस पर कुछ दोहे :.....
विश्व हिन्दी दिवस पर कुछ दोहे :.....
sushil sarna
अपमान
अपमान
Dr Parveen Thakur
जागी जवानी
जागी जवानी
Pt. Brajesh Kumar Nayak
■ बेमन की बात...
■ बेमन की बात...
*प्रणय प्रभात*
I find solace in silence, though it's accompanied by sadness
I find solace in silence, though it's accompanied by sadness
पूर्वार्थ
हिंदी का आनंद लीजिए __
हिंदी का आनंद लीजिए __
Manu Vashistha
भ्रम नेता का
भ्रम नेता का
Sanjay ' शून्य'
3294.*पूर्णिका*
3294.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
अपार ज्ञान का समंदर है
अपार ज्ञान का समंदर है "शंकर"
Praveen Sain
प्रदाता
प्रदाता
Dinesh Kumar Gangwar
शिव आराध्य राम
शिव आराध्य राम
Pratibha Pandey
"मैं मजदूर हूँ"
Dr. Kishan tandon kranti
देश और जनता~
देश और जनता~
दिनेश एल० "जैहिंद"
Loading...