Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame
Mar 5, 2019 · 1 min read

वो कोई ख़ास नही

कोई तुमसे अगर पूछे
की कौन लगता हूँ मैं तेरा
तो तुम बस इतना बता देना
एक दोस्त है मेरा कच्चा सा
अक्ल से जरा बच्चा सा
थोड़ा झूठा ,थोड़ा सच्चा सा

तुमसे पूछे कोई क्या ख़ास है मुझमे
तो तुम बस इतना बता देना
वो कुछ नही बस
मेरे सफ़र का हिस्सा है
वो तो बस कोई किस्सा है
नींदों में बस जाए
वो बस वही सपना है
वो तो मेरा अपना है

तुमसे अगर पूछे कोई
क्यों पसंद करती हो तुम उसे
तो तुम बस इतना बता देना
वो तो एक हवा का झोंका है
बेगानो के वेश में वो अपना जैसा दिखता है
चुपचाप सा रहता है
कुछ अनकही बाते लिखता है
कभी अनसुलझा सा दिखता है
वो कोई खास नहीं
बस मेरी आँखों में
यादें बन कर ठहरता है
कभी आँसू बन कर लुढ़कता है–अभिषेक राजहंस

113 Views
You may also like:
💐प्रेम की राह पर-24💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
Apology
Mahesh Ojha
पूंजीवाद में ही...
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
“ माँ गंगा ”
DESH RAJ
घर आंगन
शेख़ जाफ़र खान
ऐ वतन!
Anamika Singh
“माटी ” तेरे रूप अनेक
DESH RAJ
पिता
Vijaykumar Gundal
पिता
pradeep nagarwal
विद्यालय का गृहकार्य
Buddha Prakash
घड़ी और समय
Buddha Prakash
*दो बूढ़े माँ बाप (नौ दोहे)*
Ravi Prakash
निशां बाकी हैं।
Taj Mohammad
दोहावली...(११)
डॉ.सीमा अग्रवाल
हमारी नींदें
Dr fauzia Naseem shad
कवि की नज़र से - पानी
बिमल
ईद मना रही है।
Taj Mohammad
थक चुकी हूं मैं
Shriyansh Gupta
अलबेले लम्हें, दोस्तों के संग में......
Aditya Prakash
# पर_सनम_तुझे_क्या
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
✍️गर्व करो अपना यही हिंदुस्थान है✍️
"अशांत" शेखर
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
भारतवर्ष
Utsav Kumar Aarya
छोड़ दो बांटना
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
मेरा , सच
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
पहली भारतीय महिला जासूस सरस्वती राजमणि जी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
छीन लिए है जब हक़ सारे तुमने
Ram Krishan Rastogi
फ़रेब-ए-'इश्क़
Aditya Prakash
द्विराष्ट्र सिद्धान्त के मुख्य खलनायक
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
किसको बुरा कहें यहाँ अच्छा किसे कहें
Dr Archana Gupta
Loading...