Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 Mar 2024 · 1 min read

विश्व जल दिवस

सन् 1992 में पहली बार ब्राजील के रियो डी जेनेरो में पर्यावरण और विकास पर संयुक्त राष्ट्र सम्मेलन की अनुसूची-21 में जल सम्बन्धी विषय को आधिकारिक रूप से जोड़ा गया। सन् 1993 में संयुक्त राष्ट्र महासभा द्वारा जल का महत्व, आवश्यकता और संरक्षण के बारे में जागरूकता बढ़ाने के लिए प्रत्येक वर्ष 22 मार्च को विश्व जल दिवस के रूप में मनाने की घोषणा की गई।

आज समय की मांग है कि हम सब वैश्विक जल संरक्षण के वास्तविक क्रियाकलापों को प्रोत्साहन प्रदान करने का संकल्प करें। और, यह याद रखें कि जल के बिना जीवन सम्भव नहीं है। ‘पानी की पुकार’ भी यही है :

जिसे अब तलक ना समझे
मैं वो कहानी हूँ,
मुझे बरबाद ना करो
मैं पानी हूँ।

डॉ. किशन टण्डन क्रान्ति
साहित्य वाचस्पति
भारत के 100 महान व्यक्तित्व में शामिल
एक साधारण व्यक्ति।

Language: Hindi
Tag: लेख
1 Like · 1 Comment · 41 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Dr. Kishan tandon kranti
View all
You may also like:
"चलो जी लें आज"
Radha Iyer Rads/राधा अय्यर 'कस्तूरी'
गरीब और बुलडोजर
गरीब और बुलडोजर
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
शीर्षक - खामोशी
शीर्षक - खामोशी
Neeraj Agarwal
*जख्मी मुस्कुराहटें*
*जख्मी मुस्कुराहटें*
Krishna Manshi
हिन्दी दिवस
हिन्दी दिवस
SHAMA PARVEEN
घर घर रंग बरसे
घर घर रंग बरसे
Rajesh Tiwari
जिंदगी रूठ गयी
जिंदगी रूठ गयी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
आपके द्वारा हुई पिछली गलतियों को वर्तमान में ना दोहराना ही,
आपके द्वारा हुई पिछली गलतियों को वर्तमान में ना दोहराना ही,
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
" बोलियाँ "
Dr. Kishan tandon kranti
तेरे दरबार आया हूँ
तेरे दरबार आया हूँ
Basant Bhagawan Roy
चाँद
चाँद
Atul "Krishn"
#यदा_कदा_संवाद_मधुर, #छल_का_परिचायक।
#यदा_कदा_संवाद_मधुर, #छल_का_परिचायक।
संजीव शुक्ल 'सचिन'
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
मातृ भाषा हिन्दी
मातृ भाषा हिन्दी
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
एक ही भूल
एक ही भूल
Mukesh Kumar Sonkar
New Love
New Love
Vedha Singh
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
वो एक ही मुलाकात और साथ गुजारे कुछ लम्हें।
शिव प्रताप लोधी
उस रिश्ते की उम्र लंबी होती है,
उस रिश्ते की उम्र लंबी होती है,
शेखर सिंह
सजधज कर आती नई , दुल्हन एक समान(कुंडलिया)
सजधज कर आती नई , दुल्हन एक समान(कुंडलिया)
Ravi Prakash
तुझे आगे कदम बढ़ाना होगा ।
तुझे आगे कदम बढ़ाना होगा ।
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
3156.*पूर्णिका*
3156.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
कभी आंख मारना कभी फ्लाइंग किस ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
मंद मंद बहती हवा
मंद मंद बहती हवा
Soni Gupta
चाय-समौसा (हास्य)
चाय-समौसा (हास्य)
गुमनाम 'बाबा'
चूहा और बिल्ली
चूहा और बिल्ली
Kanchan Khanna
🌹जिन्दगी के पहलू 🌹
🌹जिन्दगी के पहलू 🌹
Dr Shweta sood
#वाल्मीकि_जयंती
#वाल्मीकि_जयंती
*प्रणय प्रभात*
कोई मोहताज
कोई मोहताज
Dr fauzia Naseem shad
Chalo khud se ye wada karte hai,
Chalo khud se ye wada karte hai,
Sakshi Tripathi
10) पूछा फूल से..
10) पूछा फूल से..
पूनम झा 'प्रथमा'
Loading...