Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
25 May 2023 · 1 min read

वातावरण चितचोर

** गीतिका **
~~
देखिए सुरमय हुआ वातावरण चितचोर।
सज गये रक्तिम प्रभा से हर प्रकृति के छोर।

सूर्य की नव रश्मियां यह दे रही संदेश।
जाग जाओ हो गई है अब सुहानी भोर।

छोड़ कर आलस्य सारा तज दिए हैं नीड़।
उड़ रहे पाखी गगन में देखिए हर ओर।

ज्ञान के विज्ञान के युग का चलन है आज।
चल नहीं सकता तमस का अब कहीं भी जोर।

बढ़ चलें संघर्ष पथ पर मत करें परवाह।
सिंधु में चलती रही हैं आंधियां घनघोर।

ढल लिया करता हमेशा वक्त के अनुरूप।
जब समय आता मधुर है नाचता मनमोर।
~~~~~~~~~~~~~~~~~~~
-सुरेन्द्रपाल वैद्य।
मण्डी (हि.प्र.)

1 Like · 123 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from surenderpal vaidya
View all
You may also like:
दिलरुबा जे रहे
दिलरुबा जे रहे
Shekhar Chandra Mitra
*अहमब्रह्मास्मि9*
*अहमब्रह्मास्मि9*
DR ARUN KUMAR SHASTRI
*रखिए एक दिवस सभी, मोबाइल को बंद (कुंडलिया)*
*रखिए एक दिवस सभी, मोबाइल को बंद (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
फितरत
फितरत
Sukoon
रोटी से फूले नहीं, मानव हो या मूस
रोटी से फूले नहीं, मानव हो या मूस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जगमगाती चाँदनी है इस शहर में
जगमगाती चाँदनी है इस शहर में
Dr Archana Gupta
रंगों में भी
रंगों में भी
हिमांशु Kulshrestha
योग का एक विधान
योग का एक विधान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
अलग सी सोच है उनकी, अलग अंदाज है उनका।
अलग सी सोच है उनकी, अलग अंदाज है उनका।
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
आवो पधारो घर मेरे गणपति
आवो पधारो घर मेरे गणपति
gurudeenverma198
“मेरी कविता का सफरनामा ”
“मेरी कविता का सफरनामा ”
DrLakshman Jha Parimal
😢चार्वाक के चेले😢
😢चार्वाक के चेले😢
*Author प्रणय प्रभात*
वैसा न रहा
वैसा न रहा
Shriyansh Gupta
💐अज्ञात के प्रति-28💐
💐अज्ञात के प्रति-28💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आधुनिक भारत के कारीगर
आधुनिक भारत के कारीगर
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
इस मोड़ पर
इस मोड़ पर
Punam Pande
निभाना साथ प्रियतम रे (विधाता छन्द)
निभाना साथ प्रियतम रे (विधाता छन्द)
नाथ सोनांचली
अयोध्या धाम
अयोध्या धाम
Mukesh Kumar Sonkar
*हम विफल लोग है*
*हम विफल लोग है*
पूर्वार्थ
अगर
अगर "स्टैच्यू" कह के रोक लेते समय को ........
Atul "Krishn"
3028.*पूर्णिका*
3028.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
बच्चे
बच्चे
Dr. Pradeep Kumar Sharma
जिंदगी भी एक लिखा पत्र हैं
जिंदगी भी एक लिखा पत्र हैं
Neeraj Agarwal
पूर्वोत्तर का दर्द ( कहानी संग्रह) समीक्षा
पूर्वोत्तर का दर्द ( कहानी संग्रह) समीक्षा
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
ख्वाहिशों के बोझ मे, उम्मीदें भी हर-सम्त हलाल है;
ख्वाहिशों के बोझ मे, उम्मीदें भी हर-सम्त हलाल है;
manjula chauhan
दो💔 लफ्जों की💞 स्टोरी
दो💔 लफ्जों की💞 स्टोरी
Ms.Ankit Halke jha
मर्चा धान को मिला जीआई टैग
मर्चा धान को मिला जीआई टैग
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
कुछ इस तरह से खेला
कुछ इस तरह से खेला
Dheerja Sharma
देकर हुनर कलम का,
देकर हुनर कलम का,
Satish Srijan
दुनिया इश्क की दरिया में बह गई
दुनिया इश्क की दरिया में बह गई
प्रेमदास वसु सुरेखा
Loading...