Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Feb 2017 · 1 min read

वह फूल हूँ

देश वीरों के चरण की शुभ-सुपावन धूल हूँ।
मातृ-क्षित के अति सुहावन सुपथ हित की भूल हूँ।
मुझे रौंदो,मैं मरूँ, जन्मूँ अनंतों बार भी।
फिर मरूँँ, पद-घाव मरहम बन हँसू, वह फूल हूँ।

बृजेश कुमार नायक
“जागा हिंदुस्तान चाहिए” एवं “क्रौंच सुऋषि आलोक” कृतियों के प्रणेता

325 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Pt. Brajesh Kumar Nayak
View all
You may also like:
महफ़िल में गीत नहीं गाता
महफ़िल में गीत नहीं गाता
Satish Srijan
*जिंदगी*
*जिंदगी*
Harminder Kaur
कया बताएं 'गालिब'
कया बताएं 'गालिब'
Mr.Aksharjeet
#आज_की_बात
#आज_की_बात
*Author प्रणय प्रभात*
"फिर"
Dr. Kishan tandon kranti
भाई दोज
भाई दोज
Ram Krishan Rastogi
दुख है दर्द भी है मगर मरहम नहीं है
दुख है दर्द भी है मगर मरहम नहीं है
कवि दीपक बवेजा
*जीवन खड़ी चढ़ाई सीढ़ी है सीढ़ियों में जाने का रास्ता है लेक
*जीवन खड़ी चढ़ाई सीढ़ी है सीढ़ियों में जाने का रास्ता है लेक
Shashi kala vyas
लगता है आवारगी जाने लगी है अब,
लगता है आवारगी जाने लगी है अब,
Deepesh सहल
सफलता का महत्व समझाने को असफलता छलती।
सफलता का महत्व समझाने को असफलता छलती।
Neelam Sharma
मोर
मोर
Manu Vashistha
प्यारी तितली
प्यारी तितली
Dr Archana Gupta
स्वरचित कविता..✍️
स्वरचित कविता..✍️
Shubham Pandey (S P)
रूठी हूं तुझसे
रूठी हूं तुझसे
Surinder blackpen
তুমি এলে না
তুমি এলে না
goutam shaw
**मन में चली  हैँ शीत हवाएँ**
**मन में चली हैँ शीत हवाएँ**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
रात स्वप्न में दादी आई।
रात स्वप्न में दादी आई।
Vedha Singh
फिर एक पलायन (पहाड़ी कहानी)
फिर एक पलायन (पहाड़ी कहानी)
श्याम सिंह बिष्ट
प्रेम
प्रेम
Sushmita Singh
*गुरु (बाल कविता)*
*गुरु (बाल कविता)*
Ravi Prakash
मूल्य वृद्धि
मूल्य वृद्धि
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ये लोकतंत्र की बात है
ये लोकतंत्र की बात है
Rohit yadav
आदमी की गाथा
आदमी की गाथा
कृष्ण मलिक अम्बाला
تہذیب بھلا بیٹھے
تہذیب بھلا بیٹھے
Ahtesham Ahmad
जिस समय से हमारा मन,
जिस समय से हमारा मन,
नेताम आर सी
समूह
समूह
Neeraj Agarwal
अस्तित्व
अस्तित्व
Shyam Sundar Subramanian
यदि चाहो मधुरस रिश्तों में
यदि चाहो मधुरस रिश्तों में
संजीव शुक्ल 'सचिन'
बारिश पर लिखे अशआर
बारिश पर लिखे अशआर
Dr fauzia Naseem shad
बावला
बावला
Ajay Mishra
Loading...