Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

वयंग्य-कविता

कोई गांठैं लगाता है कोई फंदा बनाता है ,
कोई तो जहर का प्याला मीरा को पिलाता है ।
कोई तो शिकवा करता है कोई मौके भुनाता है,
कोई तो जहर का खंजर हर दम ही चलाता है।।
कोई गाँठें …….
कोई तो कोशिश करता है हवाओं को भी बाँधने की ,
कोई तो कोशिश करता है शरहदों को लाँघने की ।
कोई तो चाहता औरों की शाँशों को भी कैद करना ,
कोई तो कोशिश करता है इंसानों को हाँकने की ।
कोई बेबस मजबूरों पै भी चाबुक चलता है।।
कोई गाँठें ………….
कोई तो रोज ही शतरंज की ही चाल चलता है ,
कोई मौकापरस्त की तरह पैंतरे बदलता है ।
कोई लेना नहीं छोड़ता कभी जो मौके का फायदा ,
फस जाये किसी की चाल में तो हाथ मलता है ।
कोई करके नहीं परवाह औरों को जलाता है ।।
कोई गाँठें …………….
कोई तो प्रेम करता है कोई तो वार करता है ,
कोई इकरार करता है कोई इनकार करता है।
क्या लोग आज हैं समझना है कठिन है लेकिन ,
कोई तो अपनों से ही वेवजह तकरार करता है ।
कोई गैरों को हँसाता है कोई अपनों को रुलाता है।। कोई गाँठें ……..
डाँ तेज स्वरूप भारद्वाज

172 Views
You may also like:
मुंह की लार – सेहत का भंडार
Vikas Sharma'Shivaaya'
महान गुरु श्री रामकृष्ण परमहंस की काव्यमय जीवनी (पुस्तक-समीक्षा)
Ravi Prakash
तीन शर्त"""'
Prabhavari Jha
कन्यादान क्यों और किसलिए [भाग ५]
Anamika Singh
मेरी लेखनी
Anamika Singh
युद्ध सिर्फ प्रश्न खड़ा करता है [भाग ५]
Anamika Singh
मुक्तक ( इंतिजार )
N.ksahu0007@writer
A Warrior Of The Darkness
Manisha Manjari
नित हारती सरलता है।
Saraswati Bajpai
बेटी....
Chandra Prakash Patel
ग़र वो है बेवफ़ा बेवफ़ा ही सही
Mahesh Ojha
पिता की नसीहत
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
भारतवर्ष स्वराष्ट्र पूर्ण भूमंडल का उजियारा है
Pt. Brajesh Kumar Nayak
**दोस्ती हैं अजूबा**
Dr. Alpa H. Amin
💐प्रेम की राह पर-56💐💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
लौट आई जिंदगी बेटी बनकर!
ज्ञानीचोर ज्ञानीचोर
✍️मैं जब पी लेता हूँ✍️
"अशांत" शेखर
गुरुजी!
Vishnu Prasad 'panchotiya'
*माँ छिन्नमस्तिका 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
अथक प्रयत्न
Dr.sima
# पर_सनम_तुझे_क्या
D.k Math
अंदाज़ ही निराला है।
Taj Mohammad
जो देखें उसमें
Dr.sima
भोजपुरी के संवैधानिक दर्जा बदे सरकार से अपील
आकाश महेशपुरी
महाराष्ट्र की स्थिती
बिमल
महाराणा प्रताप
jaswant Lakhara
दिल मुझसे लगाकर,औरों से लगाया न करो
Ram Krishan Rastogi
कर्ज भरना पिता का न आसान है
आकाश महेशपुरी
न और ना प्रयोग और अंतर
Subhash Singhai
प्राकृतिक आजादी और कानून
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
Loading...