Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Jul 2023 · 1 min read

वफा से वफादारो को पहचानो

वफा से वफादारो को पहचानो
नहीं तो यही आफत बन जाएं ।

किया आपने प्रेम से आलिंगन
छिपा कर बैठा था वह खंजर।

कल जो मेरे जश्न में शामिल थे
मिठास की चासनी घोलते थे।

साथ रहकर , झूठी ढोंग रचकर
दामन को छेद किया करता था ।

नया क्या है ? इस दुनिया में
कहीं विभीषण ,कहीं मीरजाफर ।

फरेब- फेरेबी से बचना तो कठिन
प्रेम का मायाजाल जो बुनते है ।

अभाव नहीं स्वभाव बनी होगी
और कौन-कौन हैं ? लिस्ट में शामिल।

आपनी गिरती ईमान ,ओछी मानसिकता
पोल खुली,अब कैसे बचेगी तेरी आबरू।

बोए आइए हो बबूल अनभिज्ञ मार्ग में
जरूरत पड़ सकता वही मार्ग आपको भी।

दिया घाव भर ही जाएगा
जाने उसको कौन मेरे जैसे मिलेगा ?

बस यही कामना करते है
भगवान हिम्मत हम सबको ।

लेखा -जोखा तो जरूर होगा
अंतिम तो राम ,राम सत्य होगा।।

गौतम साव

7 Likes · 8 Comments · 384 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from goutam shaw
View all
You may also like:
एक समय के बाद
एक समय के बाद
हिमांशु Kulshrestha
चंद्रकक्षा में भेज रहें हैं।
चंद्रकक्षा में भेज रहें हैं।
Aruna Dogra Sharma
मन अपने बसाओ तो
मन अपने बसाओ तो
surenderpal vaidya
"सुप्रभात"
Yogendra Chaturwedi
रिश्तों की बंदिशों में।
रिश्तों की बंदिशों में।
Taj Mohammad
संस्कार और अहंकार में बस इतना फर्क है कि एक झुक जाता है दूसर
संस्कार और अहंकार में बस इतना फर्क है कि एक झुक जाता है दूसर
Rj Anand Prajapati
कोठरी
कोठरी
Punam Pande
चंदा मामा से मिलने गए ,
चंदा मामा से मिलने गए ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
*पुस्तक समीक्षा*
*पुस्तक समीक्षा*
Ravi Prakash
"सौदा"
Dr. Kishan tandon kranti
😢4
😢4
*Author प्रणय प्रभात*
नजरिया
नजरिया
नेताम आर सी
3204.*पूर्णिका*
3204.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
तेरी मेरी तस्वीर
तेरी मेरी तस्वीर
Neeraj Agarwal
बात कलेजे से लगा, काहे पलक भिगोय ?
बात कलेजे से लगा, काहे पलक भिगोय ?
डॉ.सीमा अग्रवाल
ତୁମ ର ହସ
ତୁମ ର ହସ
Otteri Selvakumar
शहर कितना भी तरक्की कर ले लेकिन संस्कृति व सभ्यता के मामले म
शहर कितना भी तरक्की कर ले लेकिन संस्कृति व सभ्यता के मामले म
Anand Kumar
होती नहीं अराधना, सोए सोए यार।
होती नहीं अराधना, सोए सोए यार।
Manoj Mahato
जन्म से मरन तक का सफर
जन्म से मरन तक का सफर
Vandna Thakur
शराब
शराब
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
*प्यार का रिश्ता*
*प्यार का रिश्ता*
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
बॉलीवुड का क्रैज़ी कमबैक रहा है यह साल - आलेख
बॉलीवुड का क्रैज़ी कमबैक रहा है यह साल - आलेख
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
"परिपक्वता"
Dr Meenu Poonia
लम्बा पर सकडा़ सपाट पुल
लम्बा पर सकडा़ सपाट पुल
Seema gupta,Alwar
बात शक्सियत की
बात शक्सियत की
Mahender Singh
मन का मिलन है रंगों का मेल
मन का मिलन है रंगों का मेल
Ranjeet kumar patre
घर को छोड़कर जब परिंदे उड़ जाते हैं,
घर को छोड़कर जब परिंदे उड़ जाते हैं,
शेखर सिंह
**बकरा बन पल मे मै हलाल हो गया**
**बकरा बन पल मे मै हलाल हो गया**
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
After becoming a friend, if you do not even talk or write tw
After becoming a friend, if you do not even talk or write tw
DrLakshman Jha Parimal
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
🥀 *अज्ञानी की कलम*🥀
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
Loading...