Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
11 Jun 2023 · 1 min read

वक्त

23-
ऐ वक़्त
न रूठ यूं मुझसे
आरजू है, कि चल फिर से
वापस उन्हीं गलियों में चलें
जहां कैद है, जिंदगी से वो हसीन मुलाकात

दिल चाहता है
बेसाख्ता यूं ही
कोई पुरानी याद
एक बार मुझसे टकरा जाए
और मैं कहूं
बस मैं और तुम
यूं ही गलबहियां डाले
बैठे रहें बेपरवाह.

Language: Hindi
135 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Madhavi Srivastava
View all
You may also like:
इस गोशा-ए-दिल में आओ ना
इस गोशा-ए-दिल में आओ ना
Neelam Sharma
अगर मुझे तड़पाना,
अगर मुझे तड़पाना,
Dr. Man Mohan Krishna
कभी किसी को इतनी अहमियत ना दो।
कभी किसी को इतनी अहमियत ना दो।
Annu Gurjar
जब याद सताएगी,मुझको तड़पाएगी
जब याद सताएगी,मुझको तड़पाएगी
कृष्णकांत गुर्जर
बहरों तक के कान खड़े हैं,
बहरों तक के कान खड़े हैं,
*Author प्रणय प्रभात*
"आंखरी ख़त"
Lohit Tamta
उनकी यादें
उनकी यादें
Ram Krishan Rastogi
चंद्रयान-3
चंद्रयान-3
Mukesh Kumar Sonkar
मौन तपधारी तपाधिन सा लगता है।
मौन तपधारी तपाधिन सा लगता है।
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
ऐसे भी मंत्री
ऐसे भी मंत्री
Dr. Pradeep Kumar Sharma
उड़े  हैं  रंग  फागुन के  हुआ रंगीन  है जीवन
उड़े हैं रंग फागुन के हुआ रंगीन है जीवन
Dr Archana Gupta
डरो नहीं, लड़ो
डरो नहीं, लड़ो
Shekhar Chandra Mitra
एक बार नहीं, हर बार मैं
एक बार नहीं, हर बार मैं
gurudeenverma198
केवल भाग्य के भरोसे रह कर कर्म छोड़ देना बुद्धिमानी नहीं है।
केवल भाग्य के भरोसे रह कर कर्म छोड़ देना बुद्धिमानी नहीं है।
Paras Nath Jha
💐अज्ञात के प्रति-61💐
💐अज्ञात के प्रति-61💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
तूफानों से लड़ना सीखो
तूफानों से लड़ना सीखो
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
धार में सम्माहित हूं
धार में सम्माहित हूं
AMRESH KUMAR VERMA
फोन
फोन
Kanchan Khanna
महिमा है सतनाम की
महिमा है सतनाम की
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रामराज्य
रामराज्य
Suraj Mehra
2835. *पूर्णिका*
2835. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
दर्द ए दिल बयां करु किससे,
दर्द ए दिल बयां करु किससे,
Radha jha
*ये उन दिनो की बात है*
*ये उन दिनो की बात है*
Shashi kala vyas
*** बचपन : एक प्यारा पल....!!! ***
*** बचपन : एक प्यारा पल....!!! ***
VEDANTA PATEL
पिनाक धनु को तोड़ कर,
पिनाक धनु को तोड़ कर,
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
सांस
सांस
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
Anxiety fucking sucks.
Anxiety fucking sucks.
पूर्वार्थ
ख़ुद को मुर्दा शुमार मत करना
ख़ुद को मुर्दा शुमार मत करना
Dr fauzia Naseem shad
हम बिहार छी।
हम बिहार छी।
Acharya Rama Nand Mandal
*मस्ती भीतर की खुशी, मस्ती है अनमोल (कुंडलिया)*
*मस्ती भीतर की खुशी, मस्ती है अनमोल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...