Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Oct 2023 · 1 min read

वक्त को कौन बांध सका है

वक्त को कौन बांध सका है।
बहुत यत्न किये,
बहुत प्रयत्न किये,
कौन इसकी दहलीज लांघ सका है।
सब बंधे हैं इसकी डोर से
थामे कैसे इसे,किस और से
ऊंचाई इसकी कौन फांद सका है।
जीवन में जो आगे है बढ़ना
सीख वक्त के साथ तू चलना
पीछे रह कर कौन इसे थाम सका है।

सुरिंदर कौर

Language: Hindi
1 Like · 98 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Surinder blackpen
View all
You may also like:
''आशा' के मुक्तक
''आशा' के मुक्तक"
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
एकलव्य
एकलव्य
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
आओ अब लौट चलें वह देश ..।
Buddha Prakash
काश कि ऐसा होता....
काश कि ऐसा होता....
Ajay Kumar Mallah
51-   सुहाना
51- सुहाना
Rambali Mishra
गमों ने जिन्दगी को जीना सिखा दिया है।
गमों ने जिन्दगी को जीना सिखा दिया है।
Taj Mohammad
मुक्तक... हंसगति छन्द
मुक्तक... हंसगति छन्द
डॉ.सीमा अग्रवाल
నేటి ప్రపంచం
నేటి ప్రపంచం
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
धन तो विष की बेल है, तन मिट्टी का ढेर ।
धन तो विष की बेल है, तन मिट्टी का ढेर ।
sushil sarna
ज़हन खामोश होकर भी नदारत करता रहता है।
ज़हन खामोश होकर भी नदारत करता रहता है।
Phool gufran
नूतन सद्आचार मिल गया
नूतन सद्आचार मिल गया
Pt. Brajesh Kumar Nayak
भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला,
भए प्रगट कृपाला, दीनदयाला,
Shashi kala vyas
लागो ना नज़र तहके
लागो ना नज़र तहके
Shekhar Chandra Mitra
तुम्हारे सिवा और दिल में नहीं
तुम्हारे सिवा और दिल में नहीं
gurudeenverma198
*** रेत समंदर के....!!! ***
*** रेत समंदर के....!!! ***
VEDANTA PATEL
पढ़ो लिखो आगे बढ़ो पढ़ना जरूर ।
पढ़ो लिखो आगे बढ़ो पढ़ना जरूर ।
Rajesh vyas
टूटने का मर्म
टूटने का मर्म
Surinder blackpen
दोहे
दोहे
अशोक कुमार ढोरिया
2448.पूर्णिका
2448.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
मणिपुर की घटना ने शर्मसार कर दी सारी यादें
मणिपुर की घटना ने शर्मसार कर दी सारी यादें
Vicky Purohit
अनंतनाग में परचम फहरा गए
अनंतनाग में परचम फहरा गए
Harminder Kaur
चिड़िया!
चिड़िया!
सेजल गोस्वामी
परिवार, प्यार, पढ़ाई का इतना टेंशन छाया है,
परिवार, प्यार, पढ़ाई का इतना टेंशन छाया है,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
💐 Prodigy Love-33💐
💐 Prodigy Love-33💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
" मेरे जीवन का राज है राज "
Dr Meenu Poonia
*ईमानदारी का भूत सवार होना (हास्य व्यंग्य)*
*ईमानदारी का भूत सवार होना (हास्य व्यंग्य)*
Ravi Prakash
अमर्यादा
अमर्यादा
साहिल
■ आज का शेर-
■ आज का शेर-
*Author प्रणय प्रभात*
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
मुहब्बत ने मुहब्बत से सदाक़त सीख ली प्रीतम
आर.एस. 'प्रीतम'
बिगड़े रईस
बिगड़े रईस
Satish Srijan
Loading...