Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
15 Feb 2017 · 1 min read

लोहड़ी

??????
सभी दोस्तों को लोहड़ी की हार्दिक शुभकामनाएं
??????
आज पर्व लोहड़ी,
कल मकरसंक्राति।

पौष माह की
रात आखिरी,
सूर्यास्त के बाद
माघ पहली।

उत्सव मनाने की
जोरदार तैयारी,
लोहडी पूजन की
ढेर सारी सामग्री।

सूखे उपले,
लकड़ियों की ढ़ेरी,
अग्नि में अर्पित
के लिए तिलचौली।

चावल मक्के की
लावा व मूँगफली,
गचक, गुड़,
तिल और रेवड़ी।

पौष-माघ की
कड़कड़ाती सर्दी,
जलते अलाव
अत्यंत सुखदायी।

इन अलाव में छिपी
जीवन की गर्मजोशी,
समय है कटाई की
पकी फसल रब्बी।

अग्निदेव को दी
जाती आहुति,
भंगड़ा, गिद्धा
नृत्य की प्रस्तुति।

नाचते चारों ओर नर नारी
बीच में जलती अग्नि,
बजते ढोल नगाड़ों की
सुन्दर मधुर ध्वनि।

मक्के की रोटी संग
सरसो का साग,
जीवन में भरते हैं
खुशियों का राग।

रंग बिरंगे कपड़े में
लोग लगते मनोहारी,
जोशीले व स्वभाविक
हँसमुख लोग पंजाबी।
—लक्ष्मी सिंह ?☺

Language: Hindi
286 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from लक्ष्मी सिंह
View all
You may also like:
यूँही चलते है कदम बेहिसाब
यूँही चलते है कदम बेहिसाब
Vaishaligoel
तेरे गम का सफर
तेरे गम का सफर
Rajeev Dutta
गुनगुनाने यहां लगा, फिर से एक फकीर।
गुनगुनाने यहां लगा, फिर से एक फकीर।
Suryakant Dwivedi
ख़्वाब ख़्वाब ही रह गया,
ख़्वाब ख़्वाब ही रह गया,
अजहर अली (An Explorer of Life)
जिसको दिल में जगह देना मुश्किल बहुत।
जिसको दिल में जगह देना मुश्किल बहुत।
सत्य कुमार प्रेमी
प्रकृति को त्यागकर, खंडहरों में खो गए!
प्रकृति को त्यागकर, खंडहरों में खो गए!
विमला महरिया मौज
तेरी फ़ितरत, तेरी कुदरत
तेरी फ़ितरत, तेरी कुदरत
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
■ एक शेर में जीवन दर्शन।
■ एक शेर में जीवन दर्शन।
*प्रणय प्रभात*
अब तुझे रोने न दूँगा।
अब तुझे रोने न दूँगा।
Anil Mishra Prahari
चंद्रयान तीन अंतरिक्ष पार
चंद्रयान तीन अंतरिक्ष पार
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
वर दो नगपति देवता ,महासिंधु का प्यार(कुंडलिया)
वर दो नगपति देवता ,महासिंधु का प्यार(कुंडलिया)
Ravi Prakash
ग़ज़ल- तू फितरत ए शैतां से कुछ जुदा तो नहीं है- डॉ तबस्सुम जहां
ग़ज़ल- तू फितरत ए शैतां से कुछ जुदा तो नहीं है- डॉ तबस्सुम जहां
Dr Tabassum Jahan
रमेशराज के चर्चित राष्ट्रीय बालगीत
रमेशराज के चर्चित राष्ट्रीय बालगीत
कवि रमेशराज
मैं नारी हूं
मैं नारी हूं
Mukesh Kumar Sonkar
रिश्ते
रिश्ते
Mangilal 713
जाओ कविता जाओ सूरज की सविता
जाओ कविता जाओ सूरज की सविता
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
"घर बनाने के लिए"
Dr. Kishan tandon kranti
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*Relish the Years*
*Relish the Years*
Poonam Matia
रोशनी
रोशनी
लक्ष्मी वर्मा प्रतीक्षा
अहिल्या
अहिल्या
Dr.Priya Soni Khare
तितली के तेरे पंख
तितली के तेरे पंख
मनमोहन लाल गुप्ता 'अंजुम'
होली कान्हा संग
होली कान्हा संग
Kanchan Khanna
2470.पूर्णिका
2470.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
सफल लोगों की अच्छी आदतें
सफल लोगों की अच्छी आदतें
ऐ./सी.राकेश देवडे़ बिरसावादी
यादों के छांव
यादों के छांव
Nanki Patre
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जय मां शारदे
जय मां शारदे
Harminder Kaur
महादान
महादान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मन की गांठ
मन की गांठ
Sangeeta Beniwal
Loading...