Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Aug 2016 · 1 min read

“लिखूँ मैं”

शब्द लिखूँ ,गीत लिखूँ, छन्द लिखूँ मैं ,
आज नव – रूप सजा उमंग लिखूँ मैं।
भोर के उजास सी नव – कामनायें,
प्रीत के श्रृंगार में नव -रंग लिखूँ मैं।
आस लिखूँ,प्यास लिखूँ,उल्लास लिखूँ मैं,
आज विहग गीत नया गुनगुना के लिखूँ मैं।।

Language: Hindi
Tag: कविता
242 Views
You may also like:
'तिमिर पर ज्योति'🪔🪔
पंकज कुमार कर्ण
गांव का भोलापन ना रह गया है।
Taj Mohammad
चंद्रगुप्त की जुबानी , भगवान श्रीकृष्ण की कहानी
AJAY AMITABH SUMAN
तिरंगा जान से प्यारा
Dr. Sunita Singh
मय है मीना है साकी नहीं है।
सत्य कुमार प्रेमी
तमन्नाओं का संसार
DESH RAJ
राधा
सूर्यकांत द्विवेदी
नन्हा और अतीत
डॉ प्रवीण कुमार श्रीवास्तव, प्रेम
जीवन में ही सहे जाते हैं ।
Buddha Prakash
श्रमिक जो हूँ मैं तो...
मनोज कर्ण
सारी दुनिया से प्रेम करें, प्रीत के गांव वसाएं
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
*पचड़ों में पड़ना ही पड़ता है (गीतिका)*
Ravi Prakash
प्रेम पर्दे के जाने """"""""""""""""""""""'''"""""""""""""""""""""""""""""""""
Varun Singh Gautam
✍️ख़्वाबो की अमानत✍️
'अशांत' शेखर
दूरी रह ना सकी, उसकी नए आयामों के द्वारों से।
Manisha Manjari
■ कटाक्ष / सेल्फी
*प्रणय प्रभात*
खींचो यश की लम्बी रेख
Pt. Brajesh Kumar Nayak
Advice
Shyam Sundar Subramanian
Though of the day 😇
ASHISH KUMAR SINGH
संकुचित हूं स्वयं में
Dr fauzia Naseem shad
समय
Saraswati Bajpai
सरस्वती कविता
Ankit Halke jha Official's
मेरी भोली ''माँ''
पाण्डेय चिदानन्द
नात،،सारी दुनिया के गमों से मुज्तरिब दिल हो गया।
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
★उसकी यादें ★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
उफ़ यह कपटी बंदर
ओनिका सेतिया 'अनु '
कॉल
Seema 'Tu hai na'
मन की व्यथा।
Rj Anand Prajapati
मुकुट उतरेगा
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
बदलाव चाहिए
Shekhar Chandra Mitra
Loading...