Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Oct 2023 · 1 min read

लिखना है मुझे वह सब कुछ

लिखना है मुझे वह सब कुछ
जो मेरी पहचान का भ्रम तो देता है
किंतू वास्तवविक पहचान नही
वो दर्द, वो तन्हाई, वो बेचैनी
वो अवसाद, वो रुसवाई
वकृत की पोटली से
मेरे हिस्से में सिमटते गई
जैसे नदी के तलहटी में जमे गाद
किन्तु जैसे ही छेड़ा
सारा पानी धुंधला हो उठा
और कुछ भी स्पष्ट दिख नही पाता।
हाँ! आज की पूर्णिमा में ग्रहण जो लगा है।
पूनम कुमारी (आगाज ए दिल)

Language: Hindi
1 Like · 185 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
बारिश का मौसम
बारिश का मौसम
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
नहीं आया कोई काम मेरे
नहीं आया कोई काम मेरे
gurudeenverma198
नसीहत
नसीहत
Shivkumar Bilagrami
श्रद्धांजलि
श्रद्धांजलि
Arti Bhadauria
तुम से ना हो पायेगा
तुम से ना हो पायेगा
Gaurav Sharma
अमरत्व
अमरत्व
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
पत्नी व प्रेमिका में क्या फर्क है बताना।
पत्नी व प्रेमिका में क्या फर्क है बताना।
सत्य कुमार प्रेमी
मौन मुसाफ़िर उड़ चला,
मौन मुसाफ़िर उड़ चला,
sushil sarna
रेशम की डोरी का
रेशम की डोरी का
Dr fauzia Naseem shad
चलती है जिंदगी
चलती है जिंदगी
डॉ. शिव लहरी
गंणपति
गंणपति
Anil chobisa
*।। मित्रता और सुदामा की दरिद्रता।।*
*।। मित्रता और सुदामा की दरिद्रता।।*
Radhakishan R. Mundhra
फितरत
फितरत
Dr.Khedu Bharti
निभाना साथ प्रियतम रे (विधाता छन्द)
निभाना साथ प्रियतम रे (विधाता छन्द)
नाथ सोनांचली
मजदूर है हम
मजदूर है हम
Dinesh Kumar Gangwar
"बोलते अहसास"
Dr. Kishan tandon kranti
बगिया के गाछी आउर भिखमंगनी बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
बगिया के गाछी आउर भिखमंगनी बुढ़िया / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
कोरोना भगाएं
कोरोना भगाएं
Dr. Pradeep Kumar Sharma
नई शुरावत नई कहानियां बन जाएगी
नई शुरावत नई कहानियां बन जाएगी
पूर्वार्थ
आखरी है खतरे की घंटी, जीवन का सत्य समझ जाओ
आखरी है खतरे की घंटी, जीवन का सत्य समझ जाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
हिंदी दिवस
हिंदी दिवस
Akash Yadav
✍🏻 #ढीठ_की_शपथ
✍🏻 #ढीठ_की_शपथ
*Author प्रणय प्रभात*
परमेश्वर दूत पैगम्बर💐🙏
परमेश्वर दूत पैगम्बर💐🙏
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
आंखें मेरी तो नम हो गई है
आंखें मेरी तो नम हो गई है
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
जनरेशन गैप / पीढ़ी अंतराल
जनरेशन गैप / पीढ़ी अंतराल
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
*जाऍंगे प्रभु राम के, दर्शन करने धाम (कुंडलिया)*
*जाऍंगे प्रभु राम के, दर्शन करने धाम (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
"Let us harness the power of unity, innovation, and compassi
Rahul Singh
पंछी और पेड़
पंछी और पेड़
नन्दलाल सुथार "राही"
Transparency is required to establish a permanent relationsh
Transparency is required to establish a permanent relationsh
DrLakshman Jha Parimal
इस नदी की जवानी गिरवी है
इस नदी की जवानी गिरवी है
Sandeep Thakur
Loading...