लाडले देवर की प्यारी भाभी

*आनंद रस में गोता लगाकर पूरी मस्ती में ताज़ी तैयार कविता का आनंद ले*

*लाडले देवर की प्यारी भाभी *

देवर नन्द को जो रखती राजी
ऐसी है मेरी सबसे प्यारी भाभी
सुबह से जो भाई में भरती चाबी
ऊर्जा की ऐसी उमंग है भाभी
सास को हरपल कहे जो माँ जी
ऐसी चुस्त फुर्तीली है मेरी भाभी
खाकर खाना, सभी कहें वाह जी
ऐसी आई प्रशिक्षित , माईके से मेरी भाभी
मेरी हर बात पर कहे जो हांजी
ऐसी है घर की लाड़ली मेरी भाभी
शुभ मुहूर्त में करके भईया से शादी
आई मेरे घर बहुत प्यारी भाभी

एक काल्पनिक देवर की काल्पनिक भाभी कोई भी अपनी भाभी को सम्बोधित कर सकता है ।
*आपको आनंदित करने के प्रयास में आपका ©कृष्ण मलिक अम्बाला
30.05.2016

4 Likes · 8 Comments · 31201 Views
You may also like:
【 23】 प्रकृति छेड़ रहा इंसान
Arise DGRJ (Khaimsingh Saini)
शिखर छुऊंगा एक दिन
AMRESH KUMAR VERMA
खेत
Buddha Prakash
आइसक्रीम लुभाए
Buddha Prakash
सागर बोला, सुन ज़रा
सूर्यकांत द्विवेदी
पिता की नियति
Prabhudayal Raniwal
जगाओ हिम्मत और विश्वास तुम
gurudeenverma198
मनोमंथन
Dr. Alpa H.
मेरी भोली “माँ” (सहित्यपीडिया काव्य प्रतियोगिता)
पाण्डेय चिदानन्द
शायद मुझसा चोर नहीं मिल सकेगा
gurudeenverma198
हवा-बतास
आकाश महेशपुरी
उत्तर प्रदेश दिवस
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
कर्म
Rakesh Pathak Kathara
नियमित बनाम नियोजित(मरणशील बनाम प्रगतिशील)
Sahil
पिता की व्यथा
मनोज कर्ण
कैसी है ये पीर पराई
VINOD KUMAR CHAUHAN
" मैं हूँ ममता "
मनोज कर्ण
ठोकर तमाम खा के....
अश्क चिरैयाकोटी
बहते अश्कों से पूंछो।
Taj Mohammad
सच ही तो है हर आंसू में एक कहानी है
VINOD KUMAR CHAUHAN
पिता और एफडी
सूर्यकांत द्विवेदी
दिये मुहब्बत के...
अरशद रसूल /Arshad Rasool
जगत के स्वामी
AMRESH KUMAR VERMA
सफलता की कुंजी ।
Anamika Singh
कुछ कहना है..
Vaishnavi Gupta
बहन का जन्मदिन
Khushboo Khatoon
मत भूलो देशवासियों.!
Prabhudayal Raniwal
वेदना
Archana Shukla "Abhidha"
अपराधी कौन
Manu Vashistha
नई सुबह रोज
Prabhudayal Raniwal
Loading...