Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
27 May 2023 · 1 min read

*लस्सी में जो है मजा, लस्सी में जो बात (कुंडलिया)*

लस्सी में जो है मजा, लस्सी में जो बात (कुंडलिया)
——————————————————-
लस्सी में जो है मजा , लस्सी में जो बात
कहाँ किसी में वह दिखी ,सब ने खाई मात
सब ने खाई मात , दही की शान निराली
मथते हाथों – हाथ , मलाई ऊपर डाली
कहते रवि कविराय , उम्र चाहे अस्सी में
या हो दस या बीस , रमे सब ही लस्सी में
————————————————
रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर (उत्तर प्रदेश)
मोबाइल 9997615451

398 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
मुकाम
मुकाम
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
आसमान पर बादल छाए हैं
आसमान पर बादल छाए हैं
Neeraj Agarwal
💐प्रेम कौतुक-301💐
💐प्रेम कौतुक-301💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
#प्रणय_गीत-
#प्रणय_गीत-
*Author प्रणय प्रभात*
खुश रहने की कोशिश में
खुश रहने की कोशिश में
Surinder blackpen
क्या ये गलत है ?
क्या ये गलत है ?
Rakesh Bahanwal
तंग जिंदगी
तंग जिंदगी
लक्ष्मी सिंह
गुरु चरण
गुरु चरण
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
रंगीला संवरिया
रंगीला संवरिया
Arvina
तिरंगा बोल रहा आसमान
तिरंगा बोल रहा आसमान
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
जब तक दुख मिलता रहे,तब तक जिंदा आप।
जब तक दुख मिलता रहे,तब तक जिंदा आप।
Manoj Mahato
नया  साल  नई  उमंग
नया साल नई उमंग
राजेंद्र तिवारी
मुक्तक
मुक्तक
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
फसल , फासला और फैसला तभी सफल है अगर इसमें मेहनत हो।।
फसल , फासला और फैसला तभी सफल है अगर इसमें मेहनत हो।।
डॉ० रोहित कौशिक
"धन्य प्रीत की रीत.."
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
अपनी निगाह सौंप दे कुछ देर के लिए
अपनी निगाह सौंप दे कुछ देर के लिए
सिद्धार्थ गोरखपुरी
प्यार का पंचनामा
प्यार का पंचनामा
Dr Parveen Thakur
बेटियां!दोपहर की झपकी सी
बेटियां!दोपहर की झपकी सी
Manu Vashistha
मात्र एक पल
मात्र एक पल
Ajay Mishra
सच, सच-सच बताना
सच, सच-सच बताना
Jeewan Singh 'जीवनसवारो'
पौधरोपण
पौधरोपण
Dr. Pradeep Kumar Sharma
सजाता कौन
सजाता कौन
surenderpal vaidya
Keep this in your mind:
Keep this in your mind:
पूर्वार्थ
उम्र के इस पडाव
उम्र के इस पडाव
Bodhisatva kastooriya
सुविचार
सुविचार
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
जिंदगी का सवेरा
जिंदगी का सवेरा
Dr. Man Mohan Krishna
ऐ ज़िन्दगी ..
ऐ ज़िन्दगी ..
Dr. Seema Varma
23/178.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/178.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ना दे खलल अब मेरी जिंदगी में
ना दे खलल अब मेरी जिंदगी में
श्याम सिंह बिष्ट
*पीने वाले दिख रहे, पी मदिरा मदहोश (कुंडलिया)*
*पीने वाले दिख रहे, पी मदिरा मदहोश (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
Loading...