Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
18 Oct 2022 · 1 min read

रूठ जाने लगे हैं

नजरें वह हमसे चुराने लगे हैं।
महफ़िल किसी और के सजाने लगे हैं।।

बात करने के बहाने जो कभी ढूंढा करते थे ।
आज बात न करने के बहाने बनाने लगे हैं।।

छोटी-छोटी गलतियों पर रूठ जाने लगे हैं ।
लगता है दिल में किसी और को बसाने लगे हैं।।

जिन गलियों से हर रोज गुजरा करते थे कभी ।
उन्हीं गलियों का रास्ता भूल जाने लगे हैं ।।

नजरे वह हमसे चुराने लगे हैं।
लगता है कहीं और आशियाना बनाने लगे हैं।।

गौरी तिवारी
भागलपुर बिहार

Language: Hindi
4 Likes · 4 Comments · 219 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
महाराष्ट्र का नया नाटक
महाराष्ट्र का नया नाटक
*Author प्रणय प्रभात*
काश तुम मेरी जिंदगी में होते
काश तुम मेरी जिंदगी में होते
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
रिश्ते वही अनमोल
रिश्ते वही अनमोल
Dr fauzia Naseem shad
*चाँद कुछ कहना है आज * ( 17 of 25 )
*चाँद कुछ कहना है आज * ( 17 of 25 )
Kshma Urmila
हम लड़के हैं जनाब...
हम लड़के हैं जनाब...
पूर्वार्थ
ऋषि मगस्तय और थार का रेगिस्तान (पौराणिक कहानी)
ऋषि मगस्तय और थार का रेगिस्तान (पौराणिक कहानी)
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
🌻 *गुरु चरणों की धूल* 🌻
🌻 *गुरु चरणों की धूल* 🌻
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
क्या हुआ गर तू है अकेला इस जहां में
क्या हुआ गर तू है अकेला इस जहां में
gurudeenverma198
3434⚘ *पूर्णिका* ⚘
3434⚘ *पूर्णिका* ⚘
Dr.Khedu Bharti
किसी बच्चे की हँसी देखकर
किसी बच्चे की हँसी देखकर
ruby kumari
नमामि राम की नगरी, नमामि राम की महिमा।
नमामि राम की नगरी, नमामि राम की महिमा।
डॉ.सीमा अग्रवाल
मन मस्तिष्क और तन को कुछ समय आराम देने के लिए उचित समय आ गया
मन मस्तिष्क और तन को कुछ समय आराम देने के लिए उचित समय आ गया
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
दोहा-विद्यालय
दोहा-विद्यालय
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
6-जो सच का पैरोकार नहीं
6-जो सच का पैरोकार नहीं
Ajay Kumar Vimal
"याद रखें"
Dr. Kishan tandon kranti
मैं तो अंहकार आँव
मैं तो अंहकार आँव
Lakhan Yadav
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
अंधकार जितना अधिक होगा प्रकाश का प्रभाव भी उसमें उतना गहरा औ
Rj Anand Prajapati
चंद सिक्के उम्मीदों के डाल गुल्लक में
चंद सिक्के उम्मीदों के डाल गुल्लक में
सिद्धार्थ गोरखपुरी
आजमाइश
आजमाइश
Suraj Mehra
भारत के बीर सपूत
भारत के बीर सपूत
Dinesh Kumar Gangwar
महामना फुले बजरिए हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
महामना फुले बजरिए हाइकु / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
।।आध्यात्मिक प्रेम।।
।।आध्यात्मिक प्रेम।।
Aryan Raj
“ धार्मिक असहिष्णुता ”
“ धार्मिक असहिष्णुता ”
DrLakshman Jha Parimal
"अवध में राम आये हैं"
Ekta chitrangini
कभी उगता हुआ तारा रोशनी बांट लेता है
कभी उगता हुआ तारा रोशनी बांट लेता है
कवि दीपक बवेजा
पेट्रोल लोन के साथ मुफ्त कार का ऑफर (व्यंग्य कहानी)
पेट्रोल लोन के साथ मुफ्त कार का ऑफर (व्यंग्य कहानी)
Dr. Pradeep Kumar Sharma
व्यवहार अपना
व्यवहार अपना
Ranjeet kumar patre
मन
मन
SATPAL CHAUHAN
*रामचरितमानस विशद, विपुल ज्ञान भंडार (कुछ दोहे)*
*रामचरितमानस विशद, विपुल ज्ञान भंडार (कुछ दोहे)*
Ravi Prakash
ज़मीर
ज़मीर
Shyam Sundar Subramanian
Loading...