Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Write
Notifications
Wall of Fame

रुबाइ गज़ल गुनगुनाने की रातें —– गज़ल

—-
रुबाइ गज़ल गुनगुनाने की रातें
उसे हाल दिल का सुनाने की रातें

वो छूना छुआना नज़र को बचा कर
शरारत अदायें दिखाने की रातें

रुहानी मिलन वो जवानी का जज़्बा
मुहब्बत मे हँसने रुलाने की रातें

न चौपाल पीपल बचे गांव मे अब
कहां रोज़ मह्फिल सजाने की रातें

अगर रूठ जाये तो मनुहार करना
उसे याद कसमे दिलाने की रातें

कुछ उलझी लटें गेसुओं का वो सावन
रहीं प्यार मे भीग जाने की रातें

कई फलसफे ज़िन्दगी जो न भूली
कटी छुप के आंसू बहाने की रातें

जो सपने सिरहाने रख कर थे सोये
अब आई हैं उनको उठाने की रातें

खिलाना पिलाना रिझाना गया सब
गयीं बीत यूं ही मनाने की रातें

1 Comment · 225 Views
You may also like:
अजीब मनोस्थिति "
Dr Meenu Poonia
कश्ती को साहिल चाहिए।
Taj Mohammad
🍀🌸🍀🌸आराधों नित सांय प्रात, मेरे सुतदेवकी🍀🌸🍀🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
न तुमने कुछ न मैने कुछ कहा है
ananya rai parashar
तितली रानी (बाल कविता)
Anamika Singh
कैसे समझाऊँ तुझे...
Sapna K S
#मजबूरी
D.k Math
प्रकृति का अंदाज.....
Dr. Alpa H. Amin
पिता आदर्श नायक हमारे
Buddha Prakash
मंजिल की तलाश
AMRESH KUMAR VERMA
एहसासों के समंदर में।
Taj Mohammad
ए. और. ये , पंचमाक्षर , अनुस्वार / अनुनासिक ,...
Subhash Singhai
पुन्हा..!
"अशांत" शेखर
दुर्घटना का दंश
DESH RAJ
हम भी नज़ीर बन जाते।
Taj Mohammad
गर्मी का कहर
Ram Krishan Rastogi
दादी की कहानी
दुष्यन्त 'बाबा'
तितली सी उड़ान है
VINOD KUMAR CHAUHAN
गरीब की बारिश
AMRESH KUMAR VERMA
खड़ा बाँस का झुरमुट एक
Vishnu Prasad 'panchotiya'
महापंडित ठाकुर टीकाराम
श्रीहर्ष आचार्य
“ गोलू क जन्म दिन “
DrLakshman Jha Parimal
✍️बुलडोझर✍️
"अशांत" शेखर
स्वर कटुक हैं / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
सूरज काका
Dr Archana Gupta
पर्यावरण दिवस
Ram Krishan Rastogi
जाने कैसी कैद
Saraswati Bajpai
एक पिता की जान।
Taj Mohammad
बुरा तो ना मानोगी।
Taj Mohammad
'विनाश' के बाद 'समझौता'... क्या फायदा..?
Dr. Alpa H. Amin
Loading...