Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Mar 2023 · 1 min read

रिश्तों को साधने में बहुत टूटते रहे

रिश्तों को साधने में बहुत टूटते रहे
गाहे-बगाहे सब ही मुझे लूटते रहे

महावीर उत्तरांचली

1 Like · 146 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
View all
You may also like:
तुम जिसे खुद से दूर करने की कोशिश करोगे उसे सृष्टि तुमसे मिल
तुम जिसे खुद से दूर करने की कोशिश करोगे उसे सृष्टि तुमसे मिल
Rashmi Ranjan
वफ़ा
वफ़ा
shabina. Naaz
।। सुविचार ।।
।। सुविचार ।।
विनोद कृष्ण सक्सेना, पटवारी
मैं और सिर्फ मैं ही
मैं और सिर्फ मैं ही
Lakhan Yadav
हमारे जैसी दुनिया
हमारे जैसी दुनिया
Sangeeta Beniwal
अंधेरी रात में भी एक तारा टिमटिमाया है
अंधेरी रात में भी एक तारा टिमटिमाया है
VINOD CHAUHAN
ये कैसा घर है. . . .
ये कैसा घर है. . . .
sushil sarna
कहानी-
कहानी- "खरीदी हुई औरत।" प्रतिभा सुमन शर्मा
Pratibhasharma
खुदा जाने
खुदा जाने
Dr.Priya Soni Khare
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
उसे देख खिल गयीं थीं कलियांँ
उसे देख खिल गयीं थीं कलियांँ
डॉ. श्री रमण 'श्रीपद्'
दोस्तों के साथ धोखेबाजी करके
दोस्तों के साथ धोखेबाजी करके
ruby kumari
एक दिन
एक दिन
Harish Chandra Pande
अंधा बांटे रेबड़ी, फिर फिर अपनों के देवे – कहावत/ DR. MUSAFIR BAITHA
अंधा बांटे रेबड़ी, फिर फिर अपनों के देवे – कहावत/ DR. MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
3122.*पूर्णिका*
3122.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हे पैमाना पुराना
हे पैमाना पुराना
Swami Ganganiya
मिलने को उनसे दिल तो बहुत है बेताब मेरा
मिलने को उनसे दिल तो बहुत है बेताब मेरा
gurudeenverma198
" यादें "
Dr. Kishan tandon kranti
बीतल बरस।
बीतल बरस।
Acharya Rama Nand Mandal
तुझे खुश देखना चाहता था
तुझे खुश देखना चाहता था
Kumar lalit
तुझसे है मुझे प्यार ये बतला रहा हूॅं मैं।
तुझसे है मुझे प्यार ये बतला रहा हूॅं मैं।
सत्य कुमार प्रेमी
संवाद होना चाहिए
संवाद होना चाहिए
संजय कुमार संजू
■ कल तक-
■ कल तक-
*प्रणय प्रभात*
Even If I Ever Died
Even If I Ever Died
Manisha Manjari
दुनियां कहे , कहे कहने दो !
दुनियां कहे , कहे कहने दो !
Ramswaroop Dinkar
अकेलापन
अकेलापन
लक्ष्मी सिंह
चंद्रयान-थ्री
चंद्रयान-थ्री
पाण्डेय चिदानन्द "चिद्रूप"
प्रेम और आदर
प्रेम और आदर
ओंकार मिश्र
*आई ए एस फॅंस गए, मंत्री दसवीं फेल (हास्य कुंडलिया)*
*आई ए एस फॅंस गए, मंत्री दसवीं फेल (हास्य कुंडलिया)*
Ravi Prakash
तिरंगा
तिरंगा
Dr Archana Gupta
Loading...