Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
10 Jul 2024 · 1 min read

रिश्ते-आम कह दूँ क्या?

#दिनांक:-8/7/2024
#शीर्षक:-रिश्ते-आम कह दूॅ क्या?

सुनहरी याद को जाम कह दूँ क्या?
इस ह्दय को शमशान कह दूँ क्या ।।1।

अब प्रतीक्षा सीमा से ज्यादा हो गई,
अवतार कल्कि समान कह दूँ क्या ।।2।

रोग पुराना होकर भी पुराना कहाँ?
दवा तारीफ की सरेआम कह दूँ क्या ।।3।

रास्ते भी मंजिल से खूबसूरत बन जाते,
प्रेमी मुरलीधर तेरा नाम कह दूँ क्या ।।4।

सफर में हमसफ़र साथ चलता कहाँ,
सम्मान समर्पित सीताराम कह दूँ क्या ।।5।

दिखाने वाला हमेशा सचमुच नहीं,
आँखों को धोखा धाम कह दूँ क्या ।।6।

रिश्ते महकदार, मधुर वक्त से चलते
मोबाइल को रिश्ते-आम कह दूँ क्या ।।7।

चाहत की आदत कभी बदलती नहीं,
अक्षर हुए बेदम,कुछ नाम कह दूँ क्या ।।8।

नशीली रात, मौसम हो सावन सा सुहाना,
बिह्वल जज्बात को प्रेम काम कह दूँ क्या ।।9।

हर दर्द के पत्र को संभाल रखा है मैंने,
तुझे बेवफा डाकिया राम कह दूँ क्या ।।10।

(स्वरचित)
प्रतिभा पाण्डेय “प्रति”
चेन्नई

Language: Hindi
26 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
Micro poem ...
Micro poem ...
sushil sarna
*गुरु हैं कृष्ण महान (सात दोहे)*
*गुरु हैं कृष्ण महान (सात दोहे)*
Ravi Prakash
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
🙏*गुरु चरणों की धूल*🙏
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
कठोर व कोमल
कठोर व कोमल
surenderpal vaidya
#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
#डॉ अरुण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
बधाई
बधाई
Satish Srijan
*
*"मर्यादा पुरूषोत्तम श्री राम"*
Shashi kala vyas
यूं बातें भी ज़रा सी क्या बिगड़ गई,
यूं बातें भी ज़रा सी क्या बिगड़ गई,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
भावी युद्ध ...
भावी युद्ध ...
SURYA PRAKASH SHARMA
सजल...छंद शैलजा
सजल...छंद शैलजा
डॉ.सीमा अग्रवाल
माथे पर दुपट्टा लबों पे मुस्कान रखती है
माथे पर दुपट्टा लबों पे मुस्कान रखती है
Keshav kishor Kumar
विचार
विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
चुप्पी
चुप्पी
डी. के. निवातिया
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*प्रणय प्रभात*
2597.पूर्णिका
2597.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
भविष्य..
भविष्य..
Dr. Mulla Adam Ali
बादल गरजते और बरसते हैं
बादल गरजते और बरसते हैं
Neeraj Agarwal
कभी ना होना तू निराश, कभी ना होना तू उदास
कभी ना होना तू निराश, कभी ना होना तू उदास
gurudeenverma198
अकेला हूँ ?
अकेला हूँ ?
Surya Barman
"जरा सुनो"
Dr. Kishan tandon kranti
रंगों का त्योहार होली
रंगों का त्योहार होली
Suman (Aditi Angel 🧚🏻)
रण प्रतापी
रण प्रतापी
Lokesh Singh
"A Dance of Desires"
Manisha Manjari
आंगन को तरसता एक घर ....
आंगन को तरसता एक घर ....
ओनिका सेतिया 'अनु '
मैं जानता हूॅ॑ उनको और उनके इरादों को
मैं जानता हूॅ॑ उनको और उनके इरादों को
VINOD CHAUHAN
कड़वा बोलने वालो से सहद नहीं बिकता
कड़वा बोलने वालो से सहद नहीं बिकता
Ranjeet kumar patre
होके रुकसत कहा जाओगे
होके रुकसत कहा जाओगे
Awneesh kumar
" समय बना हरकारा "
भगवती प्रसाद व्यास " नीरद "
सरसी
सरसी
Dr.VINEETH M.C
Ranjeet Shukla
Ranjeet Shukla
Ranjeet Kumar Shukla
Loading...