Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Aug 2023 · 1 min read

रिमझिम बारिश

रिमझिम बारिश

रिमझिम रिमझिम आई बारिश,
मन को खूब भाया।
फुदक फुदक कर नहलाए हम,
तन में ठंडक आया।

गरज गरज कर बादल छाए,
बिजली कड़की चमक चमक कर।
सब भयभीत होकर भागा,
हम भी छुपी दुबक कर।

घनघोर अंधेरा छाया,
रूप डरावनी मौसम बनाया।
झम झम झम झम वर्षा आया,
मनमोहक दृश्य दिखाया।

घर में भागे सब डर के,
कैसी अजीब मौसम आया।
खाने का तैयारी शुरू,
रंग बिरंगी पकवान आया।

खूब छककर खाए हम लोग,
पूरी और पकवान।
रिमझिम रिमझिम फुहारों में,
दिए आनंद भगवान।

अनिल आदर्श
कोचस, रोहतास, बिहार
वाराणसी, काशी

Language: Hindi
1596 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
शिकायत नही तू शुक्रिया कर
शिकायत नही तू शुक्रिया कर
Surya Barman
"बचपने में जानता था
*Author प्रणय प्रभात*
जय शिव शंकर ।
जय शिव शंकर ।
Anil Mishra Prahari
dr arun kumar shastri
dr arun kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
🌺🌺इन फाँसलों को अन्जाम दो🌺🌺
🌺🌺इन फाँसलों को अन्जाम दो🌺🌺
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
ज़िन्दगी
ज़िन्दगी
Santosh Shrivastava
*......सबको लड़ना पड़ता है.......*
*......सबको लड़ना पड़ता है.......*
Naushaba Suriya
बरस रहे है हम ख्वाबो की बरसात मे
बरस रहे है हम ख्वाबो की बरसात मे
देवराज यादव
"लाचार मैं या गुब्बारे वाला"
संजय कुमार संजू
बेरोजगारी के धरातल पर
बेरोजगारी के धरातल पर
Rahul Singh
नया मानव को होता दिख रहा है कुछ न कुछ हर दिन।
नया मानव को होता दिख रहा है कुछ न कुछ हर दिन।
सत्य कुमार प्रेमी
Thought
Thought
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
आप और हम जीवन के सच
आप और हम जीवन के सच
Neeraj Agarwal
भ्रम
भ्रम
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
जोशीला
जोशीला
RAKESH RAKESH
"इन्तहा"
Dr. Kishan tandon kranti
Them: Binge social media
Them: Binge social media
पूर्वार्थ
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़।
आर्या कंपटीशन कोचिंग क्लासेज केदलीपुर ईरनी रोड ठेकमा आजमगढ़।
Rj Anand Prajapati
2385.पूर्णिका
2385.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
कौन पढ़ता है मेरी लम्बी -लम्बी लेखों को ?..कितनों ने तो अपनी
कौन पढ़ता है मेरी लम्बी -लम्बी लेखों को ?..कितनों ने तो अपनी
DrLakshman Jha Parimal
★साथ तेरा★
★साथ तेरा★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
डार्क वेब और इसके संभावित खतरे
डार्क वेब और इसके संभावित खतरे
Shyam Sundar Subramanian
चालवाजी से तो अच्छा है
चालवाजी से तो अच्छा है
Satish Srijan
मेरे मालिक मेरी क़लम को इतनी क़ुव्वत दे
मेरे मालिक मेरी क़लम को इतनी क़ुव्वत दे
Dr Tabassum Jahan
कैसै कह दूं
कैसै कह दूं
Dr fauzia Naseem shad
खाने पीने का ध्यान नहीं _ फिर भी कहते बीमार हुए।
खाने पीने का ध्यान नहीं _ फिर भी कहते बीमार हुए।
Rajesh vyas
धूल के फूल
धूल के फूल
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
सैनिक
सैनिक
Mamta Rani
हथेली पर समय-रेखा, लिखा कर लोग आते हैं (मुक्तक)
हथेली पर समय-रेखा, लिखा कर लोग आते हैं (मुक्तक)
Ravi Prakash
आस लगाए बैठे हैं कि कब उम्मीद का दामन भर जाए, कहने को दुनिया
आस लगाए बैठे हैं कि कब उम्मीद का दामन भर जाए, कहने को दुनिया
Shashi kala vyas
Loading...