Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
16 Jul 2016 · 1 min read

राज दोहावली से:-

तुकबंदी से तुकबनी, कविता लई बनाय |
भाषा के दुश्मन यहां, कविराज कहलाये ||

Language: Hindi
Tag: दोहा
289 Views
You may also like:
"तब घर की याद आती है"
Rakesh Bahanwal
प्यार करते हो मुझे तुम तो यही उपहार देना
Shivkumar Bilagrami
🌸🌼उनकी किस सादगी पर हम मचलते रहे🌼🌸
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
अंकित है जो सत्य शिला पर
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
पिता
pradeep nagarwal
कभी-कभी आते जीवन में...
डॉ.सीमा अग्रवाल
आँखों में आँसू क्यों
VINOD KUMAR CHAUHAN
सही-ग़लत का
Dr fauzia Naseem shad
प्यार का चिराग
Anamika Singh
खेसारी लाल बानी
Ranjeet Kumar
फौजी
Dr Meenu Poonia
परिवार दिवस
Dr Archana Gupta
*सरकारी दफ्तर में बाबू का योगदान( हास्य-व्यंग्य )*
Ravi Prakash
नहीं बचेगी जल विन मीन
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
अन्याय का साथी
AMRESH KUMAR VERMA
कलम की वेदना (गीत)
सूरज राम आदित्य (Suraj Ram Aditya)
छंद में इनका ना हो, अभाव
अरविन्द व्यास
मीडिया की विश्वसनीयता
Shekhar Chandra Mitra
वीर
लक्ष्मी सिंह
असली नशा
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
आदिवासी -देविता
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
एकता
Aditya Raj
Daily Writing Challenge : कला
'अशांत' शेखर
चेहरे पर चेहरे लगा लो।
Taj Mohammad
जीवन संगनी की विदाई
Ram Krishan Rastogi
हिन्द की तलवार हो
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
जर्जर विद्यालय भवन की पीड़ा
Rajesh Kumar Arjun
संस्कारी नाति (#नेपाली_लघुकथा)
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
जस का तस / (नवगीत)
ईश्वर दयाल गोस्वामी
★डर★
★ IPS KAMAL THAKUR ★
Loading...