Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Feb 2017 · 1 min read

**** रहस्य *****

सुबह
कितनी
ताजा
हवा
आती है
शैशवावस्था
की
मुस्कान
की
तरह
दोपहर
के
गर्म
थपेड़े
झुलसाने
वाली
लू
जवानी
की
बेपरवा
गर्मजोशी
अल्हड़पन
सन्ध्या
थकान
विश्रांति
की
शून्य
अवस्था
वार्धक्य
की
याद
ताजा
कर
जाती
है
फिर
भी
इंसान
इस
जीवन
की
कीमत

समझकर
अपने ही
साथ
छलावा
क्यों
करता
है
यह
दिन
उगते
सूरज
के
साथ
चलता
है
फिर
ढलते
सूरज
के
साथ
थम
जाता
है
फिर
भी
इंसान
इस
रहस्य
को
क्यों
नहीं
समझ
पाता
है ।। ?मधुप बैरागी

Language: Hindi
243 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from भूरचन्द जयपाल
View all
You may also like:
मेरा भारत
मेरा भारत
डॉक्टर वासिफ़ काज़ी
माँ की ममता,प्यार पिता का, बेटी बाबुल छोड़ चली।
माँ की ममता,प्यार पिता का, बेटी बाबुल छोड़ चली।
Anil Mishra Prahari
यह जो मेरी हालत है एक दिन सुधर जाएंगे
यह जो मेरी हालत है एक दिन सुधर जाएंगे
Ranjeet kumar patre
2652.पूर्णिका
2652.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"चांद पे तिरंगा"
राकेश चौरसिया
When you think it's worst
When you think it's worst
Ankita Patel
अनंतनाग में शहीद हुए
अनंतनाग में शहीद हुए
Harminder Kaur
गर कभी आओ मेरे घर....
गर कभी आओ मेरे घर....
Santosh Soni
मेरा देश महान
मेरा देश महान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
हर व्यक्ति की कोई ना कोई कमजोरी होती है। अगर उसका पता लगाया
हर व्यक्ति की कोई ना कोई कमजोरी होती है। अगर उसका पता लगाया
Radhakishan R. Mundhra
चुनौती
चुनौती
Ragini Kumari
रेत और जीवन एक समान हैं
रेत और जीवन एक समान हैं
राजेंद्र तिवारी
#ग़ज़ल-
#ग़ज़ल-
*Author प्रणय प्रभात*
आ अब लौट चले
आ अब लौट चले
Dr. Ramesh Kumar Nirmesh
"गरीब की बचत"
Dr. Kishan tandon kranti
शिशिर ऋतु-१
शिशिर ऋतु-१
Vishnu Prasad 'panchotiya'
मेरा यार
मेरा यार
rkchaudhary2012
जली आग में होलिका ,बचे भक्त प्रहलाद ।
जली आग में होलिका ,बचे भक्त प्रहलाद ।
Rajesh Kumar Kaurav
पहला खत
पहला खत
Mamta Rani
योग का एक विधान
योग का एक विधान
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
"हास्य कथन "
Slok maurya "umang"
बच्चों के मन भाते सावन(बाल कविता)
बच्चों के मन भाते सावन(बाल कविता)
Ravi Prakash
घट -घट में बसे राम
घट -घट में बसे राम
डा. सूर्यनारायण पाण्डेय
💐प्रेम कौतुक-491💐
💐प्रेम कौतुक-491💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
आपका बुरा वक्त
आपका बुरा वक्त
Paras Nath Jha
एक तरफा दोस्ती की कीमत
एक तरफा दोस्ती की कीमत
SHAMA PARVEEN
प्रेम साधना श्रेष्ठ है,
प्रेम साधना श्रेष्ठ है,
Arvind trivedi
नदी की तीव्र धारा है चले आओ चले आओ।
नदी की तीव्र धारा है चले आओ चले आओ।
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
कोई फाक़ो से मर गया होगा
कोई फाक़ो से मर गया होगा
Dr fauzia Naseem shad
भजन
भजन
सुरेखा कादियान 'सृजना'
Loading...