Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
8 Mar 2023 · 1 min read

रंग मे रंगोली मे गीत मे बोली

रंग मे रंगोली मे गीत मे बोली
हंसी मे ठिठोली मे भांग की गोली मे
राग मे फाग मे
गांव गली हर भाग मे
ढोल की बोली मे
नव युवको की टोली मे
रंग ही रंग हो अबकी बार होली मे
होली की शुभकामनाएं!
विन्ध्यप्रकाश मिश्र

1 Like · 298 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
धारा ३७० हटाकर कश्मीर से ,
धारा ३७० हटाकर कश्मीर से ,
ओनिका सेतिया 'अनु '
वोट कर!
वोट कर!
Neelam Sharma
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
"कितना कठिन प्रश्न है यह,
शेखर सिंह
... सच्चे मीत
... सच्चे मीत
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
मंत्र चंद्रहासोज्जलकारा, शार्दुल वरवाहना ।कात्यायनी शुंभदघां
मंत्र चंद्रहासोज्जलकारा, शार्दुल वरवाहना ।कात्यायनी शुंभदघां
Harminder Kaur
दो दिन
दो दिन
डाॅ. बिपिन पाण्डेय
फलानी ने फलाने को फलां के साथ देखा है।
फलानी ने फलाने को फलां के साथ देखा है।
Manoj Mahato
रिश्तों की गहराई लिख - संदीप ठाकुर
रिश्तों की गहराई लिख - संदीप ठाकुर
Sandeep Thakur
कितने आसान थे सम्झने में
कितने आसान थे सम्झने में
Dr fauzia Naseem shad
भीष्म देव के मनोभाव शरशैय्या पर
भीष्म देव के मनोभाव शरशैय्या पर
Pooja Singh
*जीवन में मुस्काना सीखो (हिंदी गजल/गीतिका)*
*जीवन में मुस्काना सीखो (हिंदी गजल/गीतिका)*
Ravi Prakash
सुखी को खोजन में जग गुमया, इस जग मे अनिल सुखी मिला नहीं पाये
सुखी को खोजन में जग गुमया, इस जग मे अनिल सुखी मिला नहीं पाये
Anil chobisa
"इश्क़ वर्दी से"
Lohit Tamta
हालातों का असर
हालातों का असर
Shyam Sundar Subramanian
एक पल में ये अशोक बन जाता है
एक पल में ये अशोक बन जाता है
ruby kumari
क्रूरता की हद पार
क्रूरता की हद पार
Mamta Rani
"तुम्हारी गली से होकर जब गुजरता हूं,
Aman Kumar Holy
😢
😢
*Author प्रणय प्रभात*
पंडित मदनमोहन मालवीय
पंडित मदनमोहन मालवीय
नूरफातिमा खातून नूरी
एकतरफा प्यार
एकतरफा प्यार
Shekhar Chandra Mitra
समलैंगिकता-एक मनोविकार
समलैंगिकता-एक मनोविकार
मनोज कर्ण
संभावना है जीवन, संभावना बड़ी है
संभावना है जीवन, संभावना बड़ी है
Suryakant Dwivedi
"विडम्बना"
Dr. Kishan tandon kranti
आ गया मौसम सुहाना
आ गया मौसम सुहाना
Dr. Rajendra Singh 'Rahi'
संस्कार और अहंकार में बस इतना फर्क है कि एक झुक जाता है दूसर
संस्कार और अहंकार में बस इतना फर्क है कि एक झुक जाता है दूसर
Rj Anand Prajapati
3458🌷 *पूर्णिका* 🌷
3458🌷 *पूर्णिका* 🌷
Dr.Khedu Bharti
भूख
भूख
Dinesh Yadav (दिनेश यादव)
दर्स ए वफ़ा आपसे निभाते चले गए,
दर्स ए वफ़ा आपसे निभाते चले गए,
ज़ैद बलियावी
मुद्दतों बाद खुद की बात अपने दिल से की है
मुद्दतों बाद खुद की बात अपने दिल से की है
सिद्धार्थ गोरखपुरी
Loading...