Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
29 Mar 2023 · 1 min read

* यौवन पचास का, दिल पंद्रेह का *

* यौवन पचास का, दिल पंद्रेह का *
बदल जायेगा ये
ज़माना भी एक दिन
हिम्मत न टूटे पाओं न थकें
और दिल न हारे
जो अगर

212 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from DR ARUN KUMAR SHASTRI
View all
You may also like:
मेरे सपनों में आओ . मेरे प्रभु जी
मेरे सपनों में आओ . मेरे प्रभु जी
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
तेरी यादों को रखा है सजाकर दिल में कुछ ऐसे
तेरी यादों को रखा है सजाकर दिल में कुछ ऐसे
Shweta Soni
■ देश भर के जनाक्रोश को शब्द देने का प्रयास।
■ देश भर के जनाक्रोश को शब्द देने का प्रयास।
*प्रणय प्रभात*
मत बनो उल्लू
मत बनो उल्लू
सुरेन्द्र शर्मा 'शिव'
Fantasies are common in this mystical world,
Fantasies are common in this mystical world,
Sukoon
सँविधान
सँविधान
Bodhisatva kastooriya
मैं निकल पड़ी हूँ
मैं निकल पड़ी हूँ
Vaishaligoel
मोहब्बत
मोहब्बत
अखिलेश 'अखिल'
गंगा काशी सब हैं घरही में.
गंगा काशी सब हैं घरही में.
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
*घर-घर में झगड़े हुए, घर-घर होते क्लेश 【कुंडलिया】*
*घर-घर में झगड़े हुए, घर-घर होते क्लेश 【कुंडलिया】*
Ravi Prakash
ये किस धर्म के लोग हैं
ये किस धर्म के लोग हैं
gurudeenverma198
"आधी है चन्द्रमा रात आधी "
Pushpraj Anant
एक पल सुकुन की गहराई
एक पल सुकुन की गहराई
Pratibha Pandey
गुजरे हुए वक्त की स्याही से
गुजरे हुए वक्त की स्याही से
Karishma Shah
कोई जब पथ भूल जाएं
कोई जब पथ भूल जाएं
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
बंगाल में जाकर जितनी बार दीदी,
बंगाल में जाकर जितनी बार दीदी,
शेखर सिंह
"प्रथम साहित्य सृजेता"
Dr. Kishan tandon kranti
2329. पूर्णिका
2329. पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
जवानी
जवानी
निरंजन कुमार तिलक 'अंकुर'
मां की याद आती है🧑‍💻
मां की याद आती है🧑‍💻
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
दिल में
दिल में
Dr fauzia Naseem shad
चुनावी घोषणा पत्र
चुनावी घोषणा पत्र
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
ନବଧା ଭକ୍ତି
ନବଧା ଭକ୍ତି
Bidyadhar Mantry
रामायण  के  राम  का , पूर्ण हुआ बनवास ।
रामायण के राम का , पूर्ण हुआ बनवास ।
sushil sarna
गीत
गीत
सत्य कुमार प्रेमी
Hey....!!
Hey....!!
पूर्वार्थ
विचार और भाव-1
विचार और भाव-1
कवि रमेशराज
नेताजी का रक्तदान
नेताजी का रक्तदान
Dr. Pradeep Kumar Sharma
ज्ञानी मारे ज्ञान से अंग अंग भीग जाए ।
ज्ञानी मारे ज्ञान से अंग अंग भीग जाए ।
Krishna Kumar ANANT
पैसों के छाँव तले रोता है न्याय यहां (नवगीत)
पैसों के छाँव तले रोता है न्याय यहां (नवगीत)
Rakmish Sultanpuri
Loading...