Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
21 Jun 2023 · 1 min read

योग तराना एक गीत (विश्व योग दिवस)

गाओ सब मिल योग तराना धरती के इंसान रे
चाहे ईश्वर चाहे अल्लाह चाहे कहो भगवान रे
कोई न हो बीमार जगत में, न कोई रहे विकारी
कहीं न हिंसा द़ेष रहे, निर्मल हो दुनिया सारी
यम नियम आसन है सद्गुण, प्रत्याहार महान रे
ध्यान धारणा और समाधि, ईश्वर प्राणीधान रे
तन से आसन करें नित्य हम, मन से ध्यान लगाना
प्रेम शांति की अलख जगा कर, दुनिया को महकाना
सब में ईश्वर सब में अल्लाह, सब में है भगवान रे
सब बंदों में दौड़ रहा है, एक खून एक प्राण रे
प्रेम अमन सुख शांति सभी के, जीवन में आ जाए
योग करे सारी दुनिया, गीत नया दोहराए
जग में सबसे प्रेम करें, धरती वासी इंसान रे
जीव ब्रह्म का मिलन योग, सुन धरती के इंसान रे
योग ज्ञान है, योग ध्यान है, योग है भगवत गीता
जो जन मन से ध्यान लगाकर, योग का अमृत पीता
लोक और परलोक संवारे, जीवन बने महान रे
योग महाविज्ञान जगत में, महिमा को पहचान रे
ज्ञान भक्ति और कर्म योग, गीता में कृष्ण ने गाया
आदि देव महादेव शिवा ने, सती को जो समझाया
पतंजलि और ऋषि मुनि ने, जन-जन को बतलाया
ज्ञान भक्ति और कर्म योग से, मत रहना अनजान रे
राजयोग अष्टांग योग है, भारत की पहचान रे
गाओ सब मिल योग तराना, धरती के इंसान रे

सुरेश कुमार चतुर्वेदी

Language: Hindi
Tag: गीत
421 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from सुरेश कुमार चतुर्वेदी
View all
You may also like:
अंतर्राष्ट्रीय पाई दिवस पर....
अंतर्राष्ट्रीय पाई दिवस पर....
डॉ.सीमा अग्रवाल
सब गुण संपन्य छी मुदा बहिर बनि अपने तालें नचैत छी  !
सब गुण संपन्य छी मुदा बहिर बनि अपने तालें नचैत छी !
DrLakshman Jha Parimal
*
*"माँ कात्यायनी'*
Shashi kala vyas
छल ......
छल ......
sushil sarna
कोई मरहम
कोई मरहम
Dr fauzia Naseem shad
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
कसौटियों पर कसा गया व्यक्तित्व संपूर्ण होता है।
Neelam Sharma
तुझसे है मुझे प्यार ये बतला रहा हूॅं मैं।
तुझसे है मुझे प्यार ये बतला रहा हूॅं मैं।
सत्य कुमार प्रेमी
सवर्ण
सवर्ण
Dr. Pradeep Kumar Sharma
गर्म चाय
गर्म चाय
Kanchan Khanna
वसंत पंचमी
वसंत पंचमी
Dr. Vaishali Verma
*** सिमटती जिंदगी और बिखरता पल...! ***
*** सिमटती जिंदगी और बिखरता पल...! ***
VEDANTA PATEL
उमड़ते जज्बातों में,
उमड़ते जज्बातों में,
Niharika Verma
जब आए शरण विभीषण तो प्रभु ने लंका का राज दिया।
जब आए शरण विभीषण तो प्रभु ने लंका का राज दिया।
Prabhu Nath Chaturvedi "कश्यप"
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
अपने जमीर का कभी हम सौदा नही करेगे
अपने जमीर का कभी हम सौदा नही करेगे
shabina. Naaz
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – तपोभूमि की यात्रा – 06
असुर सम्राट भक्त प्रह्लाद – तपोभूमि की यात्रा – 06
Kirti Aphale
सेंधी दोहे
सेंधी दोहे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
इक रोज़ मैं सोया था,
इक रोज़ मैं सोया था,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
*प्रश्नोत्तर अज्ञानी की कलम*
*प्रश्नोत्तर अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी
23/92.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/92.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
शेखर ✍️
शेखर ✍️
शेखर सिंह
क्या ऐसी स्त्री से…
क्या ऐसी स्त्री से…
Rekha Drolia
*रामराज्य में सब सुखी, सबके धन-भंडार (कुछ दोहे)*
*रामराज्य में सब सुखी, सबके धन-भंडार (कुछ दोहे)*
Ravi Prakash
अड़चन
अड़चन
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
डॉ. जसवंतसिंह जनमेजय का प्रतिक्रिया पत्र लेखन कार्य अभूतपूर्व है
डॉ. जसवंतसिंह जनमेजय का प्रतिक्रिया पत्र लेखन कार्य अभूतपूर्व है
आर एस आघात
*याद है  हमको हमारा  जमाना*
*याद है हमको हमारा जमाना*
सुखविंद्र सिंह मनसीरत
मेरी कलम
मेरी कलम
अभिषेक पाण्डेय 'अभि ’
हिंदी
हिंदी
पंकज कुमार कर्ण
अध खिला कली तरुणाई  की गीत सुनाती है।
अध खिला कली तरुणाई की गीत सुनाती है।
Nanki Patre
#इस_साल
#इस_साल
*प्रणय प्रभात*
Loading...