Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
24 Jan 2024 · 1 min read

!! युवा !!

वो सेहत से समझौता करेगा पर शौक से नही,
वो फौज से समझौता करेगा पर मौज से नही,

न जाने कौन सी मंजिल, कौन सी राह चलेगा,
जान के अनजान बनकर खुद को बर्बाद करेगा,

कर ले तू अपने मन की, होगा तुझे पछताना,
अपने किये हुए को, होगा तुझे झुठलाना,

आगाह कर रहा हूँ, थोड़ा सुधर के चल तू,
भटके हुए राहों पर थोड़ा सम्भल के चल तू,

तेरी बदौलतों से, होगा ये राष्ट्र रौशन,
कर ले तू दूर खुद के, मन की हर एक उलझन ।

!! आकाशवाणी !!

Language: Hindi
43 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
तुम मेरी किताबो की तरह हो,
तुम मेरी किताबो की तरह हो,
Vishal babu (vishu)
कवि मोशाय।
कवि मोशाय।
Neelam Sharma
"मुस्कान"
Dr. Kishan tandon kranti
लाला अमरनाथ
लाला अमरनाथ
Dr. Pradeep Kumar Sharma
खिंचता है मन क्यों
खिंचता है मन क्यों
Shalini Mishra Tiwari
*नभ में सबसे उच्च तिरंगा, भारत का फहराऍंगे (देशभक्ति गीत)*
*नभ में सबसे उच्च तिरंगा, भारत का फहराऍंगे (देशभक्ति गीत)*
Ravi Prakash
बुंदेली दोहा बिषय- नानो (बारीक)
बुंदेली दोहा बिषय- नानो (बारीक)
राजीव नामदेव 'राना लिधौरी'
#drarunkumarshastriblogger
#drarunkumarshastriblogger
DR ARUN KUMAR SHASTRI
पंचचामर छंद एवं चामर छंद (विधान सउदाहरण )
पंचचामर छंद एवं चामर छंद (विधान सउदाहरण )
Subhash Singhai
वह
वह
Lalit Singh thakur
नए मौसम की चका चोंध में देश हमारा किधर गया
नए मौसम की चका चोंध में देश हमारा किधर गया
कवि दीपक बवेजा
बेनाम रिश्ते .....
बेनाम रिश्ते .....
sushil sarna
शीर्षक - बुढ़ापा
शीर्षक - बुढ़ापा
Neeraj Agarwal
⚘*अज्ञानी की कलम*⚘
⚘*अज्ञानी की कलम*⚘
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
3066.*पूर्णिका*
3066.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
" एकता "
DrLakshman Jha Parimal
चुनाव 2024
चुनाव 2024
Bodhisatva kastooriya
"मुश्किल वक़्त और दोस्त"
Lohit Tamta
अजनबी जैसा हमसे
अजनबी जैसा हमसे
Dr fauzia Naseem shad
"मैं" के रंगों में रंगे होते हैं, आत्मा के ये परिधान।
Manisha Manjari
लाभ की इच्छा से ही लोभ का जन्म होता है।
लाभ की इच्छा से ही लोभ का जन्म होता है।
Rj Anand Prajapati
अपना भी एक घर होता,
अपना भी एक घर होता,
Shweta Soni
मेरे हमदर्द मेरे हमराह, बने हो जब से तुम मेरे
मेरे हमदर्द मेरे हमराह, बने हो जब से तुम मेरे
gurudeenverma198
प्रेम ही जीवन है।
प्रेम ही जीवन है।
Acharya Rama Nand Mandal
*सपनों का बादल*
*सपनों का बादल*
Poonam Matia
मुझ को किसी एक विषय में मत बांधिए
मुझ को किसी एक विषय में मत बांधिए
सुशील मिश्रा ' क्षितिज राज '
रंगों का त्योहार है होली।
रंगों का त्योहार है होली।
Satish Srijan
■ आज का विचार।।
■ आज का विचार।।
*Author प्रणय प्रभात*
सीरत
सीरत
Shutisha Rajput
चल सजना प्रेम की नगरी
चल सजना प्रेम की नगरी
Sunita jauhari
Loading...