Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
30 Jul 2016 · 1 min read

युवक की अभिलाषा

अभिलाषा ( भाग दो )

@——युवक की अभिलाषा —-@

पत्नी ऐसी दीजीए, हमको तुम भगवान !
देखन में ऐश्वर्या लगे, सुंदरता की खान !!

संस्कारी बहु बने घर की रखे साफ़ सफाई !
सारा घर का काम करे, बनकर शांताबाई !!

रेखा जैसा जलवा हो,जो साठ में भी युवा लगे !
प्रियंका सी फिगर रखती, माधुरी सा डांस करे !!

सोनिया जैसी चतुर हो,किरण जैसी दमदार !
मैरीकॉम से मेडल जीते, संभाल के परिवार !!

हर काम में अव्वल हो,रहे पति सेवा को तैयार !
स्वादिस्ट भोजन बनाये,वो प्यार करे बेसुमार !!

पत्नी ऐसी दीजीए , हमको तुम भगवान !
कभी न कोई मांग हो,करे न्योछावर प्राण !!

@———-डी. के. निवातियाँ !!

Language: Hindi
Tag: कविता
4 Comments · 346 Views
You may also like:
* रौशनी उसकी *
DR ARUN KUMAR SHASTRI
डिजिटल प्यार था हमरा
D.k Math { ਧਨੇਸ਼ }
वो पत्थर
shabina. Naaz
अपने और जख्म
Anamika Singh
*योग-ज्ञान भारत की पूॅंजी (गीत)*
Ravi Prakash
✍️पुरानी रसोई✍️
'अशांत' शेखर
क्या क्या हम भूल चुके है
Ram Krishan Rastogi
245. "आ मिलके चलें"
MSW Sunil SainiCENA
*मेरी इच्छा*
Dushyant Kumar
Book of the day: मालव (उपन्यास)
Sahityapedia
आप कौन है
Sandeep Albela
मोहब्बत का गम है।
Taj Mohammad
शेर
Rajiv Vishal
हिंदी दिवस
बिमल तिवारी आत्मबोध
एक बर्बाद शायर
Shekhar Chandra Mitra
ज़िंदगी अपनी कब लगी हमको
Dr fauzia Naseem shad
'नज़रिया'
Godambari Negi
दुनिया जवाब पूछेगी
Swami Ganganiya
"अल्मोड़ा शहर"
Lohit Tamta
पसंदीदा व्यक्ति के लिए.........
Rahul Singh
जिद्दी
लक्ष्मी सिंह
हास्य दोहा अष्टमी
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
मन चाहे कुछ कहना....!
Kanchan Khanna
हिन्दुस्तान की पहचान(मुक्तक)
Prabhudayal Raniwal
योग छंद विधान और विधाएँ
Subhash Singhai
रिश्तों की डोर
मनोज कर्ण
पिता
Deepali Kalra
जोकर vs कठपुतली ~02
bhandari lokesh
एक कमरे की जिन्दगी!!!
Dr. Nisha Mathur
शांति अमृत
Buddha Prakash
Loading...