Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Jun 2023 · 1 min read

*यात्रा पर लंबी चले, थे सब काले बाल (कुंडलिया)*

यात्रा पर लंबी चले, थे सब काले बाल (कुंडलिया)
➖➖➖➖➖➖➖➖
यात्रा पर लंबी चले, थे सब काले बाल
जितने दिन आगे बढ़े, उतना बढ़ा मलाल
उतना बढ़ा मलाल, गया डाई से नाता
कहॉं लगाऍं रंग, देर तक कौन सुखाता
कहते रवि कविराय, श्वेत बालों की मात्रा
बढ़ जाती हर रोज, बीतती ज्यों-ज्यों यात्रा

रचयिता : रवि प्रकाश
बाजार सर्राफा, रामपुर, उत्तर प्रदेश
मोबाइल 99976 15451

235 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Ravi Prakash
View all
You may also like:
मैं बूढ़ा नहीं
मैं बूढ़ा नहीं
Dr. Rajeev Jain
इक सांस तेरी, इक सांस मेरी,
इक सांस तेरी, इक सांस मेरी,
डॉ. शशांक शर्मा "रईस"
तेरे सांचे में ढलने लगी हूं।
तेरे सांचे में ढलने लगी हूं।
Seema gupta,Alwar
जीवन आसान नहीं है...
जीवन आसान नहीं है...
Ashish Morya
चिन्ता
चिन्ता
Dr. Kishan tandon kranti
जहर    ना   इतना  घोलिए
जहर ना इतना घोलिए
Paras Nath Jha
मेला एक आस दिलों🫀का🏇👭
मेला एक आस दिलों🫀का🏇👭
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
हम किसी सरकार में नहीं हैं।
हम किसी सरकार में नहीं हैं।
Ranjeet kumar patre
पुष्प की व्यथा
पुष्प की व्यथा
Shyam Sundar Subramanian
“गुरु और शिष्य”
“गुरु और शिष्य”
DrLakshman Jha Parimal
तेरे भीतर ही छिपा, खोया हुआ सकून
तेरे भीतर ही छिपा, खोया हुआ सकून
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
* श्री ज्ञानदायिनी स्तुति *
* श्री ज्ञानदायिनी स्तुति *
लक्ष्मण 'बिजनौरी'
‘निराला’ का व्यवस्था से विद्रोह
‘निराला’ का व्यवस्था से विद्रोह
कवि रमेशराज
"समय का भरोसा नहीं है इसलिए जब तक जिंदगी है तब तक उदारता, वि
डॉ कुलदीपसिंह सिसोदिया कुंदन
#हिन्दुस्तान
#हिन्दुस्तान
*प्रणय प्रभात*
#भूली बिसरी यादे
#भूली बिसरी यादे
krishna waghmare , कवि,लेखक,पेंटर
--शेखर सिंह
--शेखर सिंह
शेखर सिंह
जिसने अस्मत बेचकर किस्मत बनाई हो,
जिसने अस्मत बेचकर किस्मत बनाई हो,
Sanjay ' शून्य'
17. बेखबर
17. बेखबर
Rajeev Dutta
23/165.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/165.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
शीर्षक - बुढ़ापा
शीर्षक - बुढ़ापा
Neeraj Agarwal
सदा खुश रहो ये दुआ है मेरी
सदा खुश रहो ये दुआ है मेरी
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
पैगाम डॉ अंबेडकर का
पैगाम डॉ अंबेडकर का
Buddha Prakash
*आजादी का अर्थ है, हिंदी-हिंदुस्तान (कुंडलिया)*
*आजादी का अर्थ है, हिंदी-हिंदुस्तान (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
I guess afterall, we don't search for people who are exactly
I guess afterall, we don't search for people who are exactly
पूर्वार्थ
मां
मां
Amrit Lal
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
कविता
कविता
Rambali Mishra
मैं लिखता हूं..✍️
मैं लिखता हूं..✍️
Shubham Pandey (S P)
अयोध्या
अयोध्या
सत्यम प्रकाश 'ऋतुपर्ण'
Loading...