Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
2 Jan 2024 · 1 min read

यहाँ सब काम हो जाते सही तदबीर जानो तो

यहाँ सब काम हो जाते सही तदबीर जानो तो
उजाले हों चिराग़ों की अगर तक़दीर जानो तो
दुवाएँ भी दवाओं का सुनो तुम काम करती हैं
असर होता तभी है पर किसी की पीर जानो तो

आर.एस. ‘प्रीतम’

1 Like · 115 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from आर.एस. 'प्रीतम'
View all
You may also like:
मैं और मेरी फितरत
मैं और मेरी फितरत
लक्ष्मी सिंह
दिखा दूंगा जहाँ को जो मेरी आँखों ने देखा है!!
दिखा दूंगा जहाँ को जो मेरी आँखों ने देखा है!!
पूर्वार्थ
बगैर पैमाने के
बगैर पैमाने के
Satish Srijan
अंधेरे में भी ढूंढ लेंगे तुम्हे।
अंधेरे में भी ढूंढ लेंगे तुम्हे।
Rj Anand Prajapati
#जय_सियाराम
#जय_सियाराम
*Author प्रणय प्रभात*
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस
अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस
Shekhar Chandra Mitra
धर्म और संस्कृति
धर्म और संस्कृति
Bodhisatva kastooriya
फ़र्ज़ ...
फ़र्ज़ ...
Shaily
Love and truth never hide...
Love and truth never hide...
सिद्धार्थ गोरखपुरी
जीवन का मकसद क्या है?
जीवन का मकसद क्या है?
Buddha Prakash
कहीं और हँसके खुशियों का इज़हार करते हैं ,अपनों से उखड़े रहकर
कहीं और हँसके खुशियों का इज़हार करते हैं ,अपनों से उखड़े रहकर
DrLakshman Jha Parimal
Chhod aye hum wo galiya,
Chhod aye hum wo galiya,
Sakshi Tripathi
माँ तेरा ना होना
माँ तेरा ना होना
shivam kumar mishra
फ़कत इसी वजह से पीछे हट जाते हैं कदम
फ़कत इसी वजह से पीछे हट जाते हैं कदम
gurudeenverma198
अम्बे तेरा दर्शन
अम्बे तेरा दर्शन
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
अगर दिल में प्रीत तो भगवान मिल जाए।
अगर दिल में प्रीत तो भगवान मिल जाए।
Priya princess panwar
दोहा त्रयी. . . सन्तान
दोहा त्रयी. . . सन्तान
sushil sarna
2744. *पूर्णिका*
2744. *पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
ना कहीं के हैं हम - ना कहीं के हैं हम
ना कहीं के हैं हम - ना कहीं के हैं हम
Basant Bhagawan Roy
कितने एहसास हैं
कितने एहसास हैं
Dr fauzia Naseem shad
क्योंकि मैं किसान हूँ।
क्योंकि मैं किसान हूँ।
Vishnu Prasad 'panchotiya'
थर्मामीटर / मुसाफ़िर बैठा
थर्मामीटर / मुसाफ़िर बैठा
Dr MusafiR BaithA
प्यारा-प्यारा है यह पंछी
प्यारा-प्यारा है यह पंछी
Suryakant Dwivedi
11. एक उम्र
11. एक उम्र
Rajeev Dutta
नारी कब होगी अत्याचारों से मुक्त?
नारी कब होगी अत्याचारों से मुक्त?
कवि रमेशराज
ऐसी गुस्ताखी भरी नजर से पता नहीं आपने कितनों के दिलों का कत्
ऐसी गुस्ताखी भरी नजर से पता नहीं आपने कितनों के दिलों का कत्
Sukoon
प्यारी सी चिड़िया
प्यारी सी चिड़िया
Dr. Mulla Adam Ali
क्यों हिंदू राष्ट्र
क्यों हिंदू राष्ट्र
Sanjay ' शून्य'
"उल्लास"
Dr. Kishan tandon kranti
हम घर रूपी किताब की वह जिल्द है,
हम घर रूपी किताब की वह जिल्द है,
Umender kumar
Loading...