Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
1 Mar 2017 · 1 min read

** मौसम बडा नालायक है **

मौसम बडा नालायक है
ज़रा रखता नहीं है ख्याल
सोहबत छूट जायेगी जब
महबूबा रूठ जायेगी तब
कैसे गुजरेगी ख्याले रात
जब दूरियां दरमियां होंगी
मीठी मीठी ये जो ठंडक है
तपिस दिलों की जरूरी है
मगर रखता नहीं है ख्याल
ये मौसम बडा नालायक है।।

?मधुप बैरागी

Language: Hindi
1 Like · 514 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from भूरचन्द जयपाल
View all
You may also like:
इश्क़ में जूतियों का भी रहता है डर
इश्क़ में जूतियों का भी रहता है डर
आकाश महेशपुरी
वक्त आने पर भ्रम टूट ही जाता है कि कितने अपने साथ है कितने न
वक्त आने पर भ्रम टूट ही जाता है कि कितने अपने साथ है कितने न
Ranjeet kumar patre
3288.*पूर्णिका*
3288.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हिन्दी पर विचार
हिन्दी पर विचार
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
*अज्ञानी की कलम*
*अज्ञानी की कलम*
जूनियर झनक कैलाश अज्ञानी झाँसी
गजल
गजल
डॉ सगीर अहमद सिद्दीकी Dr SAGHEER AHMAD
गलतियां
गलतियां
Dr Parveen Thakur
मै नर्मदा हूं
मै नर्मदा हूं
Kumud Srivastava
*कागज़ कश्ती और बारिश का पानी*
*कागज़ कश्ती और बारिश का पानी*
sudhir kumar
पाँव थक जाएं, हौसलों को न थकने देना
पाँव थक जाएं, हौसलों को न थकने देना
Shweta Soni
सीधी मुतधार में सुधार
सीधी मुतधार में सुधार
मानक लाल मनु
LOVE-LORN !
LOVE-LORN !
Ahtesham Ahmad
रामबाण
रामबाण
Pratibha Pandey
खुदा कि दोस्ती
खुदा कि दोस्ती
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
!! दिल के कोने में !!
!! दिल के कोने में !!
Chunnu Lal Gupta
दहेज.... हमारी जरूरत
दहेज.... हमारी जरूरत
Neeraj Agarwal
21वीं सदी के सपने (पुरस्कृत निबंध) / मुसाफिर बैठा
21वीं सदी के सपने (पुरस्कृत निबंध) / मुसाफिर बैठा
Dr MusafiR BaithA
"सहर देना"
Dr. Kishan tandon kranti
विडंबना
विडंबना
Shyam Sundar Subramanian
*ऋषि अगस्त्य ने राह सुझाई (कुछ चौपाइयॉं)*
*ऋषि अगस्त्य ने राह सुझाई (कुछ चौपाइयॉं)*
Ravi Prakash
"महंगाई"
Slok maurya "umang"
नाथ मुझे अपनाइए,तुम ही प्राण आधार
नाथ मुझे अपनाइए,तुम ही प्राण आधार
कृष्णकांत गुर्जर
*
*"ममता"* पार्ट-5
Radhakishan R. Mundhra
खूब रोता मन
खूब रोता मन
Dr. Sunita Singh
बम
बम
Dr. Pradeep Kumar Sharma
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
डॉ अरूण कुमार शास्त्री
DR ARUN KUMAR SHASTRI
कुंडलिया - गौरैया
कुंडलिया - गौरैया
sushil sarna
प्यारी-प्यारी सी पुस्तक
प्यारी-प्यारी सी पुस्तक
SHAMA PARVEEN
■ ग़ज़ल (वीक एंड स्पेशल) -
■ ग़ज़ल (वीक एंड स्पेशल) -
*Author प्रणय प्रभात*
आंखे बाते जुल्फे मुस्कुराहटे एक साथ में ही वार कर रही हो,
आंखे बाते जुल्फे मुस्कुराहटे एक साथ में ही वार कर रही हो,
Vishal babu (vishu)
Loading...