Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
7 Apr 2017 · 1 min read

मैं हूँ एक फूल सुर्ख गुलाब

??????
मैं हूँ एक फूल सुर्ख गुलाब।
जिधर से भी मैं गुजरूँ,
छोड़ जाऊँ खुश्बू बेहिसाब।
??
मेरा जीवन काँटों की चुभन,
चेहरा खिला मुस्कुराता गुलाब।
मेरे अंग-अंग में सुन्दरता,
तन में कोमलता नाजुक-सी गुलाब।
मैं हूँ….
??
मेरी चेहरे की सादगी जैसे,
सुबह की खिली ताजी सफेद गुलाब।
ओस की बूंद से भींगे लब जैसे,
हो दो पंखुड़ियाँ गुलाबी गुलाब।
मैं हूँ……
??
मेरी बातें गुलाब की खुश्बू,
गाल दहके सुर्ख लाल गुलाब।
मेरे नीले नशीले दो नयन जैसे,
हो दो नीला – नीला गुलाब।
मैं हूँ……
??
मेरे काले से घने बाल जैसे,
हो हरा-हरा और काला गुलाब।
अपने दुश्मनों से भी मिलती हूँ,
मैं हाथ में लेकर एक पीला गुलाब।
मैं हूँ…..
??
मैं हूँ एक फूल सुर्ख गुलाब,
जिधर से भी मैं गुजरूँ,
छोड़ जाऊँ खुश्बू बेहिसाब।
????—लक्ष्मी सिंह ?☺

Language: Hindi
1 Like · 1 Comment · 492 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from लक्ष्मी सिंह
View all
You may also like:
कांटें हों कैक्टस  के
कांटें हों कैक्टस के
Atul "Krishn"
Mahadav, mera WhatsApp number save kar lijiye,
Mahadav, mera WhatsApp number save kar lijiye,
Ankita Patel
हौसला अगर बुलंद हो
हौसला अगर बुलंद हो
Paras Nath Jha
हम समुंदर का है तेज, वह झरनों का निर्मल स्वर है
हम समुंदर का है तेज, वह झरनों का निर्मल स्वर है
Shubham Pandey (S P)
बेटी
बेटी
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मैं हु दीवाना तेरा
मैं हु दीवाना तेरा
Basant Bhagawan Roy
💐अज्ञात के प्रति-99💐
💐अज्ञात के प्रति-99💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
* बेटियां *
* बेटियां *
surenderpal vaidya
ग़ज़ल/नज़्म - वो ही वैलेंटाइन डे था
ग़ज़ल/नज़्म - वो ही वैलेंटाइन डे था
अनिल कुमार
2869.*पूर्णिका*
2869.*पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
हर राह मौहब्बत की आसान नहीं होती ।
Phool gufran
जब जब तेरा मजाक बनाया जाएगा।
जब जब तेरा मजाक बनाया जाएगा।
Yogi Yogendra Sharma : Motivational Speaker
न्याय तुला और इक्कीसवीं सदी
न्याय तुला और इक्कीसवीं सदी
आशा शैली
हर खुशी
हर खुशी
Dr fauzia Naseem shad
When you remember me, it means that you have carried somethi
When you remember me, it means that you have carried somethi
पूर्वार्थ
Jeevan ka saar
Jeevan ka saar
Tushar Jagawat
"आकुलता"- गीत
Dr. Asha Kumar Rastogi M.D.(Medicine),DTCD
सात सवाल
सात सवाल
रोहताश वर्मा 'मुसाफिर'
हिम्मत और महब्बत एक दूसरे की ताक़त है
हिम्मत और महब्बत एक दूसरे की ताक़त है
SADEEM NAAZMOIN
लाख दुआएं दूंगा मैं अब टूटे दिल से
लाख दुआएं दूंगा मैं अब टूटे दिल से
Shivkumar Bilagrami
" यह जिंदगी क्या क्या कारनामे करवा रही है
कवि दीपक बवेजा
यह क्या अजीब ही घोटाला है,
यह क्या अजीब ही घोटाला है,
Sukoon
गणतंत्रता दिवस
गणतंत्रता दिवस
Surya Barman
💤 ये दोहरा सा किरदार 💤
💤 ये दोहरा सा किरदार 💤
Dr Manju Saini
किसी महिला का बार बार आपको देखकर मुस्कुराने के तीन कारण हो स
किसी महिला का बार बार आपको देखकर मुस्कुराने के तीन कारण हो स
Rj Anand Prajapati
पसोपेश,,,उमेश के हाइकु
पसोपेश,,,उमेश के हाइकु
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
*हो न हो कारण भले, पर मुस्कुराना चाहिए 【मुक्तक 】*
*हो न हो कारण भले, पर मुस्कुराना चाहिए 【मुक्तक 】*
Ravi Prakash
ऑंखों से सीखा हमने
ऑंखों से सीखा हमने
Harminder Kaur
"ज़हन के पास हो कर भी जो दिल से दूर होते हैं।
*Author प्रणय प्रभात*
समाज में शिक्षा का वही स्थान है जो शरीर में ऑक्सीजन का।
समाज में शिक्षा का वही स्थान है जो शरीर में ऑक्सीजन का।
ओम प्रकाश श्रीवास्तव
Loading...