Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
17 May 2023 · 1 min read

मैं नारी हूँ, मैं जननी हूँ

मैं नारी हूँ, मैं जननी हूँ। मैं माँ जगदंबा भवानी हूँ॥

न बांध मुझे मर्यादा में,
न संस्कार की डोरी से,
ना ममता की जंजीरों में,
स्वछंद विचरने दे जग में,
मैं अबला नहीं सबला हूँ । मैं नारी हूँ, मैं जननी हूँ ॥

न डर है भुत बैतालों का,
न अंधे कामुक हत्यारों का
संहार करुंगी अत्याचारों का
पशुवत नर चंडालों का
मैं दुर्गा हूँ, रण चंडी हूँ। मैं नारी हूँ, मैं जननी हूँ॥

न बिकती हाट बजारों में
न गली – गली चौबारों में
पान करा स्तन का अमृत
भरती शक्ति मैं प्राणों में
मैं काली हूँ, मैं चण्डी हूँ। मैं नारी हूँ, मैं जननी हूँ॥

मैं सृष्टि की आदिशक्ति
मुझसे उत्पन्न सारा जहां
मुझमें ही आकर मिलता है
जग में कुसुम सा खिलता है
मैं प्रकृति हूँ, मैं सृष्टि हूँ। मैं नारी हूँ, मैं जननी हूँ॥

नारी ने सहा बहुत अपमान
अब नहीं सहेगी बनेंगी महान
मिले प्रतिष्ठा बने पहचान
चाहे आयें कितने तूफान
मैं लक्ष्मी हूँ, मैं शारदा हूँ। मैं नारी हूँ, मैं जननी हूँ॥

बोलने लगे स्वप्न निर्जीव
मेरे प्रतिभा से जग प्रदीप्त
झुका पद में पुरुष अजेय
जैसे रजनी में ज्योति उदीप्त
मैं सीता हूँ, मैं गीता हूँ। मैं नारी हूँ, मैं जननी हूँ॥
******

Language: Hindi
1 Like · 135 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from Awadhesh Kumar Singh
View all
You may also like:
सफलता
सफलता
Dr. Pradeep Kumar Sharma
रद्दी के भाव बिक गयी मोहब्बत मेरी
रद्दी के भाव बिक गयी मोहब्बत मेरी
Abhishek prabal
कबीर ज्ञान सार
कबीर ज्ञान सार
भूरचन्द जयपाल
ना आप.. ना मैं...
ना आप.. ना मैं...
'अशांत' शेखर
खाक पाकिस्तान!
खाक पाकिस्तान!
Saransh Singh 'Priyam'
बेचारा प्रताड़ित पुरुष
बेचारा प्रताड़ित पुरुष
Manju Singh
ज्ञान-दीपक
ज्ञान-दीपक
Pt. Brajesh Kumar Nayak
आता है उनको मजा क्या
आता है उनको मजा क्या
gurudeenverma198
नशा
नशा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
जीवन में कोई भी युद्ध अकेले होकर नहीं लड़ा जा सकता। भगवान राम
जीवन में कोई भी युद्ध अकेले होकर नहीं लड़ा जा सकता। भगवान राम
Dr Tabassum Jahan
निजी विद्यालयों का हाल
निजी विद्यालयों का हाल
नंदलाल सिंह 'कांतिपति'
थोड़ा Success हो जाने दो यारों...!!
थोड़ा Success हो जाने दो यारों...!!
Ravi Betulwala
*जाता सूरज शाम का, आता प्रातः काल (कुंडलिया)*
*जाता सूरज शाम का, आता प्रातः काल (कुंडलिया)*
Ravi Prakash
क्या मिटायेंगे भला हमको वो मिटाने वाले .
क्या मिटायेंगे भला हमको वो मिटाने वाले .
Shyamsingh Lodhi Rajput (Tejpuriya)
दोस्ती और प्यार पर प्रतिबन्ध
दोस्ती और प्यार पर प्रतिबन्ध
गायक - लेखक अजीत कुमार तलवार
रिश्ता एक ज़िम्मेदारी
रिश्ता एक ज़िम्मेदारी
Dr fauzia Naseem shad
दोहा त्रयी. .
दोहा त्रयी. .
sushil sarna
नसीहत
नसीहत
Shivkumar Bilagrami
यूं ना कर बर्बाद पानी को
यूं ना कर बर्बाद पानी को
Ranjeet kumar patre
परिवार होना चाहिए
परिवार होना चाहिए
हिमांशु बडोनी (दयानिधि)
"वो दिन"
Dr. Kishan tandon kranti
माँ का घर
माँ का घर
Pratibha Pandey
बेबसी (शक्ति छन्द)
बेबसी (शक्ति छन्द)
नाथ सोनांचली
मां की ममता जब रोती है
मां की ममता जब रोती है
Harminder Kaur
Ghazal
Ghazal
shahab uddin shah kannauji
2484.पूर्णिका
2484.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
बुराई कर मगर सुन हार होती है अदावत की
बुराई कर मगर सुन हार होती है अदावत की
आर.एस. 'प्रीतम'
आप किससे प्यार करते हैं?
आप किससे प्यार करते हैं?
Otteri Selvakumar
लतिका
लतिका
DR ARUN KUMAR SHASTRI
जन पक्ष में लेखनी चले
जन पक्ष में लेखनी चले
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
Loading...