Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
13 Jun 2023 · 1 min read

मैं तो महज एहसास हूँ

मैं तो महज एहसास हूँ
कभी अपनों सा
कभी सपनों सा
मैं तो महज एहसास हूँ
दिल में सुकून सा
मन में जुनून सा
मैं तो महज एहसास हूँ
दबी सी हंसी हूँ
लबों की हंसी हूँ
मैं तो महज अहसास हूँ
मुझ संग उमंग है
जीवन में तरंग है
मैं तो महज अहसास हूँ
जैसे मैं संगीत हूँ
V9द का मीत हूँ
मैं तो महज अहसास हूँ

3 Likes · 193 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
Books from VINOD CHAUHAN
View all
You may also like:
शोकहर छंद विधान (शुभांगी)
शोकहर छंद विधान (शुभांगी)
Subhash Singhai
నా గ్రామం..
నా గ్రామం..
डॉ गुंडाल विजय कुमार 'विजय'
वेला
वेला
Sangeeta Beniwal
रक्षाबंधन का त्यौहार
रक्षाबंधन का त्यौहार
Ram Krishan Rastogi
सूखे पत्तों से भी प्यार लूंगा मैं
सूखे पत्तों से भी प्यार लूंगा मैं
कवि दीपक बवेजा
सच्चे रिश्ते वही होते है जहा  साथ खड़े रहने का
सच्चे रिश्ते वही होते है जहा साथ खड़े रहने का
पूर्वार्थ
असंवेदनशीलता
असंवेदनशीलता
Shyam Sundar Subramanian
न जाने कहा‌ँ दोस्तों की महफीले‌ं खो गई ।
न जाने कहा‌ँ दोस्तों की महफीले‌ं खो गई ।
Yogendra Chaturwedi
कभी ना अपने लिए जीया मैं…..
कभी ना अपने लिए जीया मैं…..
AVINASH (Avi...) MEHRA
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
23/156.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
23/156.*छत्तीसगढ़ी पूर्णिका*
Dr.Khedu Bharti
आपका बुरा वक्त
आपका बुरा वक्त
Paras Nath Jha
ओम के दोहे
ओम के दोहे
ओमप्रकाश भारती *ओम्*
इरादा हो अगर पक्का सितारे तोड़ लाएँ हम
इरादा हो अगर पक्का सितारे तोड़ लाएँ हम
आर.एस. 'प्रीतम'
आखरी है खतरे की घंटी, जीवन का सत्य समझ जाओ
आखरी है खतरे की घंटी, जीवन का सत्य समझ जाओ
सुरेश कुमार चतुर्वेदी
संगठग
संगठग
Sanjay ' शून्य'
*भूमिका*
*भूमिका*
Ravi Prakash
ऐसे साथ की जरूरत
ऐसे साथ की जरूरत
Vandna Thakur
चाय बस चाय हैं कोई शराब थोड़ी है।
चाय बस चाय हैं कोई शराब थोड़ी है।
Vishal babu (vishu)
मुझमें अभी भी प्यास बाकी है ।
मुझमें अभी भी प्यास बाकी है ।
Arvind trivedi
पावस की रात
पावस की रात
लक्ष्मी सिंह
वो बदल रहे हैं।
वो बदल रहे हैं।
Taj Mohammad
ज़िंदगी फिर भी हमें
ज़िंदगी फिर भी हमें
Dr fauzia Naseem shad
बचपन की यादें
बचपन की यादें
Neeraj Agarwal
क्रांतिवीर नारायण सिंह
क्रांतिवीर नारायण सिंह
Dr. Pradeep Kumar Sharma
मंज़र
मंज़र
अखिलेश 'अखिल'
"बात पते की"
Dr. Kishan tandon kranti
आज की शाम।
आज की शाम।
Dr. Jitendra Kumar
राम से जी जोड़ दे
राम से जी जोड़ दे
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
Patience and determination, like a rock, is the key to their hearts' lock.
Patience and determination, like a rock, is the key to their hearts' lock.
Manisha Manjari
Loading...