Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
12 Jul 2023 · 1 min read

मैं चल रहा था तन्हा अकेला

मैं चल रहा था तन्हा अकेला
तुम जो मिले तो मिला कारवां
लफ्ज़ बनूँ मैं तेरे तू बन ज़ुबान
मेरे अंधेरों कि तू बन सुबाह
तेरी ज़ुल्फ़ों में ऐसे खो जाऊं
जुदा कोई ना कर पाए
तेरे दामन में ऐसे सो जाऊं
जुदा कोई ना कर पाए

339 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
कितना खाली खालीपन है !
कितना खाली खालीपन है !
Saraswati Bajpai
* शक्ति स्वरूपा *
* शक्ति स्वरूपा *
surenderpal vaidya
बाबा साहब अंबेडकर का अधूरा न्याय
बाबा साहब अंबेडकर का अधूरा न्याय
सोलंकी प्रशांत (An Explorer Of Life)
क्रोधावेग और प्रेमातिरेक पर सुभाषित / MUSAFIR BAITHA
क्रोधावेग और प्रेमातिरेक पर सुभाषित / MUSAFIR BAITHA
Dr MusafiR BaithA
*बड़ा आदमी बनना है तो, कर प्यारे घोटाला (हिंदी गजल/ गीतिका)*
*बड़ा आदमी बनना है तो, कर प्यारे घोटाला (हिंदी गजल/ गीतिका)*
Ravi Prakash
जी करता है , बाबा बन जाऊं - व्यंग्य
जी करता है , बाबा बन जाऊं - व्यंग्य
अनिल कुमार गुप्ता 'अंजुम'
जज़्बात
जज़्बात
Neeraj Agarwal
"दोस्ती"
Dr. Kishan tandon kranti
*** लम्हा.....!!! ***
*** लम्हा.....!!! ***
VEDANTA PATEL
गुजरा वक्त।
गुजरा वक्त।
Taj Mohammad
सारे  ज़माने  बीत  गये
सारे ज़माने बीत गये
shabina. Naaz
डरने कि क्या बात
डरने कि क्या बात
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
हर बार सफलता नहीं मिलती, कभी हार भी होती है
हर बार सफलता नहीं मिलती, कभी हार भी होती है
पूर्वार्थ
■ मेरा जीवन, मेरा उसूल। 😊
■ मेरा जीवन, मेरा उसूल। 😊
*Author प्रणय प्रभात*
मानवता
मानवता
Rahul Singh
स्वर्गस्थ रूह सपनें में कहती
स्वर्गस्थ रूह सपनें में कहती
तारकेश्‍वर प्रसाद तरुण
Dr Arun Kumar shastri
Dr Arun Kumar shastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
गीत
गीत
Shiva Awasthi
अब बस बहुत हुआ हमारा इम्तिहान
अब बस बहुत हुआ हमारा इम्तिहान
ruby kumari
तारीफ किसकी करूं किसको बुरा कह दूं
तारीफ किसकी करूं किसको बुरा कह दूं
कवि दीपक बवेजा
ऐ मेरे हुस्न के सरकार जुदा मत होना
ऐ मेरे हुस्न के सरकार जुदा मत होना
प्रीतम श्रावस्तवी
~~तीन~~
~~तीन~~
Dr. Vaishali Verma
(10) मैं महासागर हूँ !
(10) मैं महासागर हूँ !
Kishore Nigam
अमर्यादा
अमर्यादा
साहिल
💐प्रेम कौतुक-261💐
💐प्रेम कौतुक-261💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
“ अपने प्रशंसकों और अनुयायियों को सम्मान दें
“ अपने प्रशंसकों और अनुयायियों को सम्मान दें"
DrLakshman Jha Parimal
भले दिनों की बात
भले दिनों की बात
Sahil Ahmad
बड़ी ठोकरो के बाद संभले हैं साहिब
बड़ी ठोकरो के बाद संभले हैं साहिब
Jay Dewangan
गाडगे पुण्यतिथि
गाडगे पुण्यतिथि
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
SHELTER OF LIFE
SHELTER OF LIFE
Awadhesh Kumar Singh
Loading...