Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
28 Jan 2017 · 1 min read

मैं उड़ता रहूँगा, उठता रहूँगा

इतिहास के पन्नों में लिख दो
या अपने झूठे सच्चे शब्दों से
मेरे चेहरे पर कीचड़ मल दो
मैं उड़ता रहूँगा, उठता रहूँगा
उस धूल, उस धुंए की तरह

क्यों मेरी चमक से नाराज़ हो
क्या मेरी तरक्की से उदास हो
मैं यूँ ही बढ़ता रहूँगा
जैसे कि ये जहां मेरा घर हो

सूरज और चाँद की तरह
समंदर की लहरों की तरह
उम्मीद की किरण की तरह
मैं बढ़ता घटता रहूँगा

बिखरा हुआ देखना चाहते हो मुझे
या सर और नज़रें झुकाये हुए
आँखों से आंसूं बहते हुए
या कमज़ोरी से कहराते हुए

क्या मेरी हंसी से नासाज़ हो
या मेरी खुशियों से नाराज़ हो
मैं यूँ ही हँसता रहूँगा
जैसे कि मैं सबसे खुश हूँ

अपने शब्दों से मुझे घायल करो
अपनी नज़रों से मुझे छलनी करो
अपनी नफरत से मेरी जान लो
मैं उड़ता रहूँगा, उठता रहूँगा
ठण्डी सुहानी हवा की तरह

शर्म परे रखकर, निखरता रहूँगा
दर्द किनारे कर, हँसता रहूँगा
डर की रातों से दूर होकर
भोर के उजाले की ओर बढ़ता रहूँगा
उम्मीदों का दामन थामे, सपने साथ लिए
मैं नयी मंज़िलों की तरफ चलता रहूँगा

मैं उड़ता रहूँगा, उठता रहूँगा

–प्रतीक

Language: Hindi
210 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
💐अज्ञात के प्रति-80💐
💐अज्ञात के प्रति-80💐
शिवाभिषेक: 'आनन्द'(अभिषेक पाराशर)
मैं कितनी नादान थी
मैं कितनी नादान थी
Shekhar Chandra Mitra
देखी है ख़ूब मैंने भी दिलदार की अदा
देखी है ख़ूब मैंने भी दिलदार की अदा
महावीर उत्तरांचली • Mahavir Uttranchali
समझदारी का तो पूछिए ना जनाब,
समझदारी का तो पूछिए ना जनाब,
Vaishnavi Gupta (Vaishu)
जिंदगी मौत से बत्तर भी गुज़री मैंने ।
जिंदगी मौत से बत्तर भी गुज़री मैंने ।
Phool gufran
जब अथक प्रयास करने के बाद आप अपनी खराब आदतों पर विजय प्राप्त
जब अथक प्रयास करने के बाद आप अपनी खराब आदतों पर विजय प्राप्त
Paras Nath Jha
परछाइयों के शहर में
परछाइयों के शहर में
Surinder blackpen
अपना प्यारा जालोर जिला
अपना प्यारा जालोर जिला
Shankar N aanjna
#justareminderdrarunkumarshastri
#justareminderdrarunkumarshastri
DR ARUN KUMAR SHASTRI
International  Yoga Day
International Yoga Day
Tushar Jagawat
या' रब तेरे जहान के
या' रब तेरे जहान के
Dr fauzia Naseem shad
*सर्दी में बारिश हुई, बचकर रहिए आप (दोहा-गीतिका)*
*सर्दी में बारिश हुई, बचकर रहिए आप (दोहा-गीतिका)*
Ravi Prakash
रूठे लफ़्ज़
रूठे लफ़्ज़
Alok Saxena
तेरे बिन
तेरे बिन
Kamal Deependra Singh
विचारों की आंधी
विचारों की आंधी
Vishnu Prasad 'panchotiya'
■ अप्रैल फ़ूल
■ अप्रैल फ़ूल
*Author प्रणय प्रभात*
भाईचारे का प्रतीक पर्व: लोहड़ी
भाईचारे का प्रतीक पर्व: लोहड़ी
कवि रमेशराज
सुबह की नमस्ते
सुबह की नमस्ते
Neeraj Agarwal
उसको भी प्यार की ज़रूरत है
उसको भी प्यार की ज़रूरत है
Aadarsh Dubey
एहसास-ए-शु'ऊर
एहसास-ए-शु'ऊर
Shyam Sundar Subramanian
2608.पूर्णिका
2608.पूर्णिका
Dr.Khedu Bharti
"पेंसिल और कलम"
Dr. Kishan tandon kranti
ना कोई संत, न भक्त, ना कोई ज्ञानी हूँ,
ना कोई संत, न भक्त, ना कोई ज्ञानी हूँ,
डी. के. निवातिया
लीजिए प्रेम का अवलंब
लीजिए प्रेम का अवलंब
Umesh उमेश शुक्ल Shukla
किंकर्तव्यविमुढ़
किंकर्तव्यविमुढ़
पूनम झा 'प्रथमा'
चाँदनी में नहाती रही रात भर
चाँदनी में नहाती रही रात भर
Dr Archana Gupta
"कलयुग का मानस"
Dr Meenu Poonia
!! निरीह !!
!! निरीह !!
Chunnu Lal Gupta
प्रेम का पुजारी हूं, प्रेम गीत ही गाता हूं
प्रेम का पुजारी हूं, प्रेम गीत ही गाता हूं
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
राम विवाह कि मेहंदी
राम विवाह कि मेहंदी
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
Loading...