Sahityapedia
Login Create Account
Home
Search
Dashboard
Notifications
Settings
22 Jan 2017 · 1 min read

मेरी स्वीटू

चाँदी सा मुखड़ा है
बिजली सी मुस्कान
नहीं नहीं वो मासूम नहीं है
गुड़िया बहुत करती परेशान
दिनभर करती मनमानी
थोड़ा सा खाना खाएगी
और चिल्लाए पानी- पानी
दो साल की नटखट लाड़ो
जब हो जाए गुस्सा
मुँह फुला गोलगप्पे जैसे
मारेगी मुक्का – मुक्का
कान पकड़कर अपने मैं
जब खूब करूँ चिरौरी
प्यारी स्वीटू गुस्सा मत हो
आ खेले आँख – मिचौली
खूब कराए जतन मुझसे
मनवाए अपनी बातें सारी
मोबाइल रख जरा सा मैं
हो जाऊँ यहाँ – वहाँ
लाइक – अन लाइक
कमेंट – समेंट
हो जाते सारे जहाँ – तहाँ
करती घरभर खूब उधम
नहीं किसी की सुनती है
मुझे सताने की गुड़िया ने
जैसे खाई हो कोई कसम
बहुत प्यार है उसको मुझसे
मम्मा- मम्मी कहती है
मेरे जीवन का हिस्सा है वो
सदा मेरे ह्रदय में बसती है

Language: Hindi
2 Likes · 2 Comments · 492 Views
📢 Stay Updated with Sahityapedia!
Join our official announcements group on WhatsApp to receive all the major updates from Sahityapedia directly on your phone.
You may also like:
आज तक इस धरती पर ऐसा कोई आदमी नहीं हुआ , जिसकी उसके समकालीन
आज तक इस धरती पर ऐसा कोई आदमी नहीं हुआ , जिसकी उसके समकालीन
Raju Gajbhiye
जीवन की धूल ..
जीवन की धूल ..
Shubham Pandey (S P)
अभिसप्त गधा
अभिसप्त गधा
नंदलाल मणि त्रिपाठी पीताम्बर
मीत की प्रतीक्षा -
मीत की प्रतीक्षा -
Seema Garg
पुनर्जन्म का सत्याधार
पुनर्जन्म का सत्याधार
Shyam Sundar Subramanian
चाहत 'तुम्हारा' नाम है, पर तुम्हें पाने की 'तमन्ना' मुझे हो
चाहत 'तुम्हारा' नाम है, पर तुम्हें पाने की 'तमन्ना' मुझे हो
Sukoon
जाने कहाँ से उड़ती-उड़ती चिड़िया आ बैठी
जाने कहाँ से उड़ती-उड़ती चिड़िया आ बैठी
Shweta Soni
दोहा
दोहा
गुमनाम 'बाबा'
हिंदी साहित्य की नई विधा : सजल
हिंदी साहित्य की नई विधा : सजल
Sushila joshi
रंजीत कुमार शुक्ल
रंजीत कुमार शुक्ल
Ranjeet kumar Shukla
पिता
पिता
विजय कुमार अग्रवाल
स्मृति
स्मृति
Neeraj Agarwal
Tu wakt hai ya koi khab mera
Tu wakt hai ya koi khab mera
Sakshi Tripathi
नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि,
नवरात्र के सातवें दिन माँ कालरात्रि,
Harminder Kaur
बालगीत :- चाँद के चर्चे
बालगीत :- चाँद के चर्चे
Kanchan Khanna
छोटी कहानी- 'सोनम गुप्ता बेवफ़ा है' -प्रतिभा सुमन शर्मा
छोटी कहानी- 'सोनम गुप्ता बेवफ़ा है' -प्रतिभा सुमन शर्मा
Pratibhasharma
तू एक फूल-सा
तू एक फूल-सा
Sunanda Chaudhary
मन तेरा भी
मन तेरा भी
Dr fauzia Naseem shad
दाढ़ी-मूँछ धारी विशिष्ट देवता हैं विश्वकर्मा और ब्रह्मा
दाढ़ी-मूँछ धारी विशिष्ट देवता हैं विश्वकर्मा और ब्रह्मा
Dr MusafiR BaithA
सच
सच
Sanjeev Kumar mishra
आज और कल
आज और कल
डॉ विजय कुमार कन्नौजे
"शहर की याद"
Dr. Kishan tandon kranti
** गर्मी है पुरजोर **
** गर्मी है पुरजोर **
surenderpal vaidya
यह तो अब तुम ही जानो
यह तो अब तुम ही जानो
gurudeenverma198
न जल लाते हैं ये बादल(मुक्तक)
न जल लाते हैं ये बादल(मुक्तक)
Ravi Prakash
ग़ज़ल
ग़ज़ल
ईश्वर दयाल गोस्वामी
अपनी सरहदें जानते है आसमां और जमीन...!
अपनी सरहदें जानते है आसमां और जमीन...!
Aarti sirsat
ये जो नफरतों का बीज बो रहे हो
ये जो नफरतों का बीज बो रहे हो
Gouri tiwari
■ लीजिए संकल्प...
■ लीजिए संकल्प...
*प्रणय प्रभात*
कल आज और कल
कल आज और कल
Omee Bhargava
Loading...